नोटबंदी के बाद से कई बार अलग-अलग जगहों पर नोट मिलने, पानी में बहाने और जलाने की ख़बरें आईं, लेकिन ये अपनी तरह का अलग मामला है. नोटबंदी के लगभग डेढ़ साल होने के बाद भी अब तक पुराने नोट निकल रहे हैं. रविवार को किसी ने रफ्तार से चल रही ट्रेन से लाखों रुपए उड़ा दिए. ये नोट हजार और पांच सौ के थे, जो बंद हो चुके हैं. नोट उड़ाए जाने की सूचना मिलने पर गांव लोग उस ओर दौड़े और सैकड़ों लोगों ने नोट बटोर जेबें भर लीं. इसके बाद ये नोट कई लोगों ने जला भी दिए. उड़ाए गए नोट पांच लाख रुपए बताए जा रहे हैं.

बरौनी-जबलपुर एक्सप्रेस से उड़ाए गए नोट

ये मामला यूपी के हमीरपुर जिले का है. बताया जा रहा है कि देर रात बरौनी-जबलपुर एक्सप्रेस ट्रेन से जो यहां से गुजर कर जबलपुर की ओर जा रही थी, से किसी ने रुपए उड़ाए. ये पुराने पांच सौ और हजार रुपए के नोट थे. नोट हमीरपुर के यमुना साउथ बैंक रेलवे स्टेशन के पास उड़ाए गए. इसकी सूचना मिलते ही गांव के लोग रात में ही मौके पर पहुंच गए. रुपए उड़ाए जाने की खबर आग की तरह फैल गई और लोग यहां पहुंच गए. सबने ज्यादा से ज्यादा नोट बटोर जेबों में भर लिए. इसके बाद कई लोग सुबह पहुंचे. इस तरह से लगभग पूरे गांव के लोगों ने नोट बटोरे. नोट कई किलोमीटर में फैले हुए थे. ये नोट कुल पांच से 10 लाख रुपए के बीच हो सकते हैं.

रामदेव बाबा से मिलना मतलब एक करोड़ लोगों तक पहुंचना: अमित शाह

कई ने लुटे, जलाए भी

स्टेशन मास्टर ने बताया कि घटना सही है. उन्हें भी जानकारी मिली है. हालांकि उन्होंने नोट नहीं देखे हैं. स्टेशन के आसपास भी कर्मचारियों को नोट मिले, जिसे उन्होंने जला दिया. यह भी बताया जा रहा है कि कई लोगों ने इन नोटों को जला दिया. लोगों का कहना है कि ये नोट बेकार हो चुके हैं. लगभग पांच लाख रुपए जलाए जाने की सूचना है. चर्चा है कि टैक्स चोरी कर अवैध तरीके से कमाया गया धन होगा, तभी इस तरह से फेंका गया. उड़ाए गए नोटों की कई तरह से चर्चाएं हो रही हैं.