रोहतक में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष की ताजपोशी के दौरान एक व्यक्ति ने दोनों पैरों की काटी नसें, पढ़े पूरी खबर

रोहतक में गुरुवार को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष की ताजपोशी के दौरान सीएम और अन्य मंत्रियों की मौजूदगी में एक शख्स ने अपने दोनों पैरों की नसें काट ली। उसके पास सुसाइड नोट भी था। इस शख्स ने करीब एक साल पहले भी इसी तरह रोहतक एसपी दफ्तर के बाहर दोनों पैरों की नसें काटकर सुसाइड करने का प्रयास किया था। दरअसल, इसने पुलिसकर्मियों पर प्रताड़ित करने के आरोप लगाए थे। उसी मामले में कोई कार्रवाई न होने पर अब फिर से सीएम के कार्यक्रम में ऐसा किया है। 

पिछले सुसाइड अटेंप्ट के पीछे ये था मामला
रोहतक के कंसाला में रहने वाले राजवीर पुत्र हवा सिंह का नशा मुक्ति केंद्र था। कुछ लोगों ने शिकायत की थी कि इस केंद्र में नशा करवाया जाता है। पुलिस ने कुछ लोगों की शिकायत पर मामला दर्ज किया था। राजवीर का आरोप है था कि इस मामले को खारिज करवाने के लिए उसने पुलिसकर्मी को पैसे दिए थे। इसके बाद भी मामला खारिज नहीं हुआ। इससे उसका काम चौपट हो गया। यह मामला चार-पांच साल से चलता आ रहा था। इससे तंग आकर एक साल पहले राजवीर ने रोहतक एसपी दफ्तर के बाहर अपने दोनों पैरों की नसें काट ली थी। इससे वह बुरी तरह से लहूलुहान हो गया था।

इसी मामले में कार्रवाई न होने पर अब फिर काटी नसें
पुराने मामले में कार्रवाई न होने पर अब फिर से गुरुवार को राजवीर ने सीएम मनोहर लाल खट्टर व अन्य भाजपा नेताओं के कार्यक्रम में अपने दोनों पैरों की नसें काट ली। उसका कहना था कि वह सुसाइड करना चाहता है। उसका कोई काम नहीं किया गया। उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। राजवीर ने दो डीएसपी और एसडीएम पर आरोप लगाए हैं। 

एक तरफ चल रहा था भाषण, दूसरी तरफ किया सुसाइड का प्रयास
एक तरफ तो नए प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ की ताजपोशी के दौरान भाजपा कार्यालय में कार्यक्रम चल रहा था और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला भाषण दे रहे थे। इसी दौरान राजवीर ने दोनों पैरों की नसें काट ली। वह आवाज लगा-लागकर लोगों को इकट्ठा करने लगा और भ्रष्टाचार के आरोप लगाने लगा। तभी पुलिस ने उसे पकड़ लिया। काफी देर तक पुलिसकर्मी एंबुलेंस का इंतजार करते रहे लेकिन जब एंबुलेंस नहीं दिखाई दी तो वे पुलिस पीसीआर में बैठाकर राजवीर को रोहतक पीजीआई ले गए। 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button