पाकिस्तान की पहली हिंदू महिला सीनेटर बनी कृष्णा कुमारी

कृष्णा कुमारी कोल्ही पाकिस्तान में सीनेटर चुनी जाने वालीं पहली हिंदू दलित महिला बन गई हैं.  सत्तारूढ़ पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की तरफ से पाकिस्तान के सिंध प्रांत में थार से कृष्णा कुमारी कोल्ही अपर हाउस के लिए चुनाव संपन्न होने के बाद मुस्लिम बहुल देश में पहली हिंदू महिला सीनेटर बनीं. बिलावल भुट्टो जरदारी की सत्तारूढ़ पीपीपी ने अल्पसंख्यक के लिए सीनेट की एक सीट पर उन्हें नामित किया था. कोल्ही की जाति का उल्लेख पाकिस्तानी अनुसूचित जातियां अध्यादेश-1957 में है.

पाकिस्तान की पहली हिंदू महिला सीनेटर बनी कृष्णा कुमारी

सिंध के नगरपरकर जिले के एक दूरदराज गांव की रहने वाली कृष्णा कुमारी कोल्ही का जन्म एक गरीब परिवार में 1979 में हुआ था. उन्हें और उनके परिवार को तीन सालों तक एक जमींदार के यहां बंधुआ मजदूर के रूप में भी काम करना पड़ा था. 16 साल की उम्र में शादी हो जाने के बाद भी शिक्षा नहीं छोड़ी और साइकोलॉजी में मास्टर्स किया. साथ ही उन्होंने सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में पीपीपी जॉइन किया था. थार के वंचितों के हक की लड़ाई करते हुए कृष्णा कुमारी कोल्ही पाकिस्तान में आज जाना पहचाना नाम बन गई हैं.

24 फरवरी की रात श्रीदेवी के साथ क्या हुआ था, बोनी कपूर ने बताई पूरी कहानी

 पहली गैर मुस्लिम सीनेटर को नामित करने का श्रेय भी पीपीपी के पास है जिसने 2009 में एक दलित डॉ. खाटूमल जीवन को सामान्य सीट से सीनेटर चुना था. इसी तरह 2015 में सीनेटर चुने जाने वाले इंजीनियर ज्ञानीचंद दूसरे दलित थे. उन्हें भी पीपीपी ने सामान्य सीट से उतारा था. बिलावल भुट्टो जरदारी के नेतृत्व वाली पीपीपी ने 2012 में सिंध से गैर मुस्लिमों के लिए आरक्षित सीट पर सीनेटर के लिए हरीराम किशोरीलाल को नामित किया था और वह निर्वाचित हुए थे.

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com