कविता : मैं मरने से नही डरती

मैं मरने से नही डरती
डरती हूँ इस बात से कि
कौन मेरे जाने के बाद
बच्चों को लोरी सुनाएगा
उनकी छोटी-छोटी उपलब्धियों पर
कौन खुशी से फुला समायेगा

मैं मरने से नही डरती
डरती हूँ इस बात से कि
कौन मेरे जाने के बाद
भाइयों की सूनी कलाई सजायेगा
भाईदूज पर कौन उनको
प्यार का टीका लगाएगा
कौन होगा जो उनकी
सारी बलाएँ हरना चाहेगा

मैं मरने से नही डरती
डरती हूँ इस बात से कि
कौन मेरे जाने के बाद
पीहर के आँगन को सजायेगा
होली,दीवाली पर कौन
अपनी हसरतें पूरी करवायेगा

मैं मरने से नही डरती
डरती हूँ इस बात से कि
कौन मेरे जाने के बाद
प्रियतम के घर को सजायेगा
फूलों की इस बगियां को
महकायेगा जिसकी धड़कन हूँ मैं
क्या कोई वो धड़कन बन पायेगा
मैं मरने से नही डरती ……………

कवयित्री:-गरिमा राकेश गौतम
पता:-कोटा राजस्थान

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 + twelve =

Back to top button