भारत से ट्रेन और चालक दल किराए पर लेगा नेपाल, तब शुरू होगी ब्रॉडगेज सर्विस

भारत के जयनगर और नेपाल के जनकपुर के बीच अगले 6 महीनों में ब्रॉडगेज यानी बड़ी लाइन की ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा. इस रूट पर पिछले 5 वर्षों से आमान-परिवर्तन यानी नैरो गेज रेलवे लाइन को ब्रॉड गेज में बदलने का काम किया जा रहा है. नेपाल के रेलवे विभाग के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार नेपाल की पहली ब्रॉड गेज रेल सेवा दिसंबर से शुरू करने की योजना है. इस रूट पर भारत की तरफ से बिहार के जयनगर और नेपाल के जनकपुर तक शुरुआती चरण में रेल सेवा शुरू की जाएगी. चीन की समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक यह खंड जयनगर से नेपाल के दक्षिण पूर्व क्षेत्र तक 69 किमी का नेपाल-भारत सीमा पार रेलवे का एक भाग है. दोनों पड़ोसी देशों के बीच कई अन्य स्थानों पर भी रेलवे लाइन बिछाने की योजना पर काम चल रहा है. अपने देश में ब्रॉडगेज सर्विस शुरू करने के लिए नेपाल, भारत से ट्रेन और चालक दल किराए पर लेगा.

नेपाल में जरूरी मानव संसाधन की कमी

थाईलैंड रेस्क्यू ऑपरेशन में इस भारतीय इंजीनियर ने किया ये बड़ा कमाल

जनकपुर-जयनगर लाइन पर वर्षों तक नैरो गेज रेलवे का परिचालन किया जाता रहा है. लेकिन इस रूट को बड़ी लाइन में बदलने व अन्य नवीनकरण कार्यो के लिए पांच साल पहले बंद कर दिया गया था. रूट परिवर्तन के कारण अभी भारत-नेपाल के बीच रेल सेवा बंद है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ से नेपाल के रेलवे विभाग (डीओआर) के वरिष्ठ प्रभागीय इंजीनियर प्रकाश भक्त उपाध्याय ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने जल्द संचालन शुरू करने के लिए भारत से पट्टे पर रेल गाड़ियां लेकर चलाने की योजना बनाई है. डीओआर के अनुसार, नेपाल सेवा के संचालन के लिए भारतीय चालक दल के सदस्यों को किराए पर लेगा क्योंकि हिमालयी देश में ब्रॉड गेज रेल सेवा को संचालित करने के लिए आवश्यक मानव संसाधन नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

इस वजह से मालदीव में ब्रिटिश कालीन मूर्तियों को तोड़ा गया कुल्हाड़ी से..

मालदीव के निवर्तमान राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन द्वारा ब्रिटिश