शेयर बाजार में लौटी बहार, सेंसेक्स ने लगाई 385.84 अंक की तेज छलांग

- in कारोबार

मुम्बई। यूरोपीय संघ में प्रवासी समझौते पर लगी मुहर ने विदेशी बाजारों के साथ घरेलू शेयर बाजार की गिरावट को भी थाम लिया। चौतरफा लिवाली के दम पर बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 385.84 अंक की तेज छलांग लगाकर 35,423.48 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 125.20 अंक की तेजी के साथ 10,714.30 अंक पर बंद हुआ।शेयर बाजार में लौटी बहार, सेंसेक्स ने लगाई 385.84 अंक की तेज छलांग

यूरोपीय संघ के 2दिवसीय सम्मेलन के दौरान प्रवासी समझौते को लेकर जारी मैराथन चर्चा आज तडक़े तक जारी रही और अंतत: इसे स्वीकार कर लिया गया। समझौते पर लगी मुहर ने जर्मनी की मौजूदा चांसलर ऐंजिला मर्केल को राहत देने के साथ राजनीतिक संकट को भी खत्म करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है।

प्रवासियों के मसले पर यूरोपीय संघ कई खेमे में बंट रहा था और जर्मनी की चांसलर को सीमा सुरक्षा को लेकर अपनी गठबंधन सरकार का विद्रोह झेलना पड़ रहा था। समझौते के कारण यूरो जोन में जारी राजनीतिक अस्थिरता का माहौल में सुधर होने से निवेशकों का भरोसा जोखिम भरे निवेश में बढ़ा है।

इसके अलावा कच्चे तेल का बाजार का माहौल भी निवेशकों के अनुकूल साबित हुआ। अमेरिका और अन्य आर्थिक महाशक्तियों के बीच बढ़े तनाव के कारण कच्चे तेल की मांग बढऩे की संभावनाएंं क्षीण होने से कच्चे तेल के दाम स्थिर रहे। हालांकि,ईरान पर प्रतिबंध और आपूर्ति में बाधा के कारण कच्चे तेल के बाजार में उथल पुथल का माहौल बना हुआ है।

चीन ने भी इस बीच विदेशी निवेश की सीमा में राहत देकर निवेशकों का रुझान बढाने का काम किया है सेंसेक्स शुरूआत में तेजी के साथ खुला और पूरे दिन हरे निशान में रहा। सेंसेक्स बढ़त के साथ 35,128.16 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 35,099.65 अंक के निचले और 35,459.16 अंक के उच्चतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 1.10 प्रतिशत की तेजी में 35,423.48 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की 23 कंपनियां हरे निशान में रहीं और बीएसई के सभी 20 समूहों के सूचकांक में बढ़त रही। निफ्टी का ग्राफ भी सेंसेक्स की तरह रहा और यह मजबूती के साथ 10,612.85 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 10,723.05 अंक के दिवस के उच्चतम और 10,612.35 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 118 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,714.30 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी की 40 कंपनियां तेजी में और शेष 10 गिरावट में रहीं। छोटी और मंझोली कंपनियों में भी लिवाली का जोर रहा। बीएसई का मिडकैप 1.81 प्रतिशत यानी 275.09 अंक की बढ़त में 15,450.90 अंक पर और स्मॉलकैप 301.76 अंक यानी 1.92 प्रतिशत की बढ़त में 16,032.15 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,730 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,841 में तेजी और 744 में गिरावट रही जबकि 145 कंपनियों के शेयरों में भाव अपरिवर्तित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़ी खुशखबरी: देश के 3 बड़े बैंकों के विलय से ग्राहकों को मिलेंगे ये फायदे

बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक