संवैधानिक संकट था इसलिए दिया इस्तीफा: पूर्व सीएम तीरथ सिंह रावत

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत व वन मंत्री हरक सिंह रावत के बीच चल रही जुबानी जंग को पूर्व सीएम व पौड़ी संसदीय क्षेत्र के सांसद तीरथ सिंह रावत ने गलत बताया। उन्होंने कहा कि जो हो रहा है वह ठीक नहीं है। आप नेता कर्नल कोठियाल द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के मसले पर रावत ने कहा कि जो भी इसमें लिप्त होगा उसको कोई छूट न देते हुए निश्चित कार्रवाई की जाएगी। उत्तराखंड के सीएम पद से हटाने के सवाल पर रावत ने कहा कि उनके मामले में संवैधानिक संकट था। उसी संकट के आधार पर खुद निर्णय लेकर उन्होंने अपना इस्तीफा दिया था।

शाम को रावत ने अग्रवाल सभा भवन में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। रावत ने केंद्र सरकार की योजनाओं व उससे होने वाले फायदों के बारे में कार्यकर्ताओं को बताया। कहा कि चुनाव का समय नजदीक है। ऐसे में पार्टी कार्यकर्ताओं को अपने बूथ पर ध्यान देना चाहिए। बूथ की मजबूती ही जीत की राह प्रशस्त करेगी। कार्यकर्ताओं ने नजूल भूमि पर मालिकाना हक दिलाने व चंडीगढ़ व हरिद्वार टे्रन का संचालन बढ़ाए जाने की मांग की

इससे पूर्व कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के जन्मदिन पर जुलूस निकाला। इस दौरान ब्लाक प्रमुख रेखा रावत, ग्रामीण मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र रावत, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राकेश नैनवाल, पूर्व पालिकाध्यक्ष भगीरथ लाल चौधरी, नगर अध्यक्ष भावना भट्ट, दीप्ति रावत, नीमा मठपाल, नरेंद्र चौहान, कमल किशोर, पूरन नैनवाल, मनोज रावत आदि मौजूद रहे।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 − nine =

Back to top button