बोल्ड और स्मार्ट दिखने के चक्कर में लड़कियां कर रही स्मोकिंग

- in जीवनशैली

इन दिनों कई जगहों पर गर्ल्स सिगरेट पीते हुए आसानी से नजर आ जाती हैं। गर्ल्स में स्मोकिंग का ट्रेंड पिछले तीन सालों में बढ़ा है। होटल्स, पब और ओपन प्लेसस पर कही दोस्तों के साथ तो कही अकेले ही लड़कियों को सिगरेट के कश लगाते देखा जा सकता है। इसमें स्कूल से लेकर कॉलेज गोइंग गर्ल्स भी शामिल हैं। डॉक्टर्स का कहना है कम उम्र में स्मोकिंग को लेकर गर्ल्स का यह क्रेज भविष्य में उन्हें बेहद दिक्कत दे सकता है। अचानक से बड़े स्मोकिंग ट्रेंड को लेकर जब नवदुनिया ने गर्ल्स से बातचीत की तो कई ने खुलकर बताया कि वो स्मोकिंग इसलिए करती हैं, क्योंकि वो खुद को बाकियों के मुकाबले स्मार्ट और बोल्ड दिखाना चाहती हैं।

बोल्ड और स्मार्ट

पहले बंद कमरे में अब ओपन कर रहीं धूम्रपान

कॉलेज स्टूडेंट रुचि कभी कभार स्मोकिंग करती हैं। बकौल रुचि लड़कियों के स्मोकिंग करने की एक वजह लैंगिक समानता को बढ़ावा देना या वजन कम करने का भी होता है। कोई भी धूम्रपान करने का ऐसा कारण नहीं बता सकता, जिससे लोग सहमत हों, लेकिन यह तनाव बस्टर के रूप में काम करता है। गर्ल्स पहले बंद कमरे में स्मोकिंग करती थी अब ओपन में कर रही हैं। हालांकि वो इसके साइफ इफेक्ट भी जानती हैं।

लड़कों जैसी लत लड़कियों में नहीं

पहले रेग्युलर स्मोकिंग करने वाली रीचा शर्मा ने अब यह आदत छोड़ दी है। वे कहती हैं, स्मोकिंग हानिकारक है यह सभी जानते हैं। लेकिन एक आम धारणा कि स्मोकिंग से टेंशन कम होता है इसके चलते भी गर्ल्स स्मोकिंग करने लगती हैं। दूसरी वजह लाइफ स्टाइल का बदलना भी है। लेकिन गर्ल्स में लड़कों जैसी लत लगने वाली आदत नहीं होती है। वे आसानी से इससे दूर भी हो जाती हैं। जबकि लड़कों के साथ ऐसा नहीं है। वे लाख कोशिश के बाद भी धूम्रपान कम ही छोड़ पाते हैं।

लड़कियां बिना झिझक मांगती हैं सिगरेट

राजधानी के बड़े पॉन शॉप के संचालक भी इस बात को मानते हैं कि पिछले पांच सालों में भोपाल में गर्ल्स में स्मोकिंग ट्रेंड बढ़ा है। खासतौर से बाहर से आकर पढ़ने वाली गर्ल्स ना सिर्फ ओपनली स्मोकिंग करती हैं, बल्कि शॉप पर भी बेझिझक सिगरेट खरीदती हैं। इस ट्रेंड में इजाफे को इस तरह समझा जा सकता है कि पांच साल पहले जहां एक या दो लड़कियां सिगरेट खरीदती थी,वहीं अब इनकी संख्या प्रतिदिन 20 से 25 के बीच हो चुकी है।

प्रेमी ने निकाली खेत में गड़ी प्रेमिका की लाश, फिर मौत की ये वजह आई सामने

अलग दिखने की कोशिश

स्टूडेंट अनुजा श्रीवास्तव भी विशेष अवसरों पर स्मोकिंग करती हैं। उनका मानना है कि आज के दौर में खुद को स्मार्ट और बोल्ड दिखाने के लिए गर्ल्स स्मोकिंग करती हैं। स्मोकिंग करने के पीछे गर्ल्स की दूसरी बड़ी वजह लाइफ स्टाइल को ऊंचा दिखाना भी है। अनुजा भी जानती हैं कि यह आदत अच्छी नहीं है, लेकिन उनका कहना है कि कभी-कभार यह चल जाता है।

बांझपन सबसे बड़ी समस्या

एमडी मेडिसिन डॉ. विनोद कोठरी बताते हैं कि युवतियों में स्मोकिंग का बढ़ता कल्चर सही नहीं है। कम उम्र में स्मोकिंग या ड्रिकिंग की आदत कैंसर का मरीज तो बना ही सकती है। इसके अलावा हाई और लो ब्लड प्रेशर की दिक्कत सबसे पहले होती है। इसके साथ बांझपन सबसे बड़ी दिक्कत है जो स्मोकिंग के चलते युवतियों में आ रही है।

 

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

किन्नर को भूल से भी कभी नहीं देना चाहिए ये एक चीजें, वरना हो जाओगे बर्बाद

शास्त्रों की अगर मानें तो किन्नर कि दुआ