आपकी बढ़ती तोंद की वजह हैं ये 5 सबसे खराब फूड

- in जीवनशैली

हम अपने वजन को नियंत्रित करने के लिए और अपने बेली फैट को कम करने के लिए न जाने क्या-क्या करते हैं। डाइटीशियन से अपना डाइट चार्ट बनाते हैं, जिम में घंटों पसीना बहाते हैं। इसके बावजूद अगर आपका वजन कम नहीं होता या फिर आपकी बेली फैट उभरी हुई है, तो यह सवाल उठना लाजिमी है कि ऐसा क्यों? असल में इसके लिए आपको एक बार अपनी डाइट की ओर नजर दौड़ानी होगी। कई बार हम चाहे-अनचाहे ऐसे फूड्स अपनी डाइट में शामिल कर लेते हैं, जो हमारे बेली फैट को बढ़ा देता है। जानिए, इन फूड्स के बारे में।आपकी बढ़ती तोंद की वजह हैं ये 5 सबसे खराब फूड

पोटेटो चिप्स

हार्वर्ड रिसचर्स का मानना है कि पोटेटो चिप्स बेली फैट के लिए सबसे खराब फूड आइटम है। सिर्फ इसलिए नहीं कि इसमें सेचुरेटेड फैट है बल्कि इसलिए भी क्योंकि यह एब्डोमिनल फैट को बहुत तेजी से बढ़ाता है। इतना ही नहीं इसमें बहुत ज्याद कैलोरी होती है, जो बेली के लिए बिल्कुल ठीक नहीं है। महज मुट्ठी भर पोटेटो चिप्स की वजह से आपका वजन आसानी से बढ़ सकता है। सो, इसे अपनी डाइट से जितना जल्दी हो, निकाल बाहर करें। इसके बजाय आप चाहें तो ब्राउन राइस से बने चिप्स खा सकते हैं। स्नैक टाइम में इसे खाया जा सकता है।

डाइट सोडा

माना जाता है कि डाइट सोडा में लिमिटेड कैलोरी होती है। ऐसा है भी। इसके बावजूद डाइट सोडा पीने की वजह से तेजी से बेली फैट बढ़ जाता है। ऐसा हाल के दिनों में हुए अध्ययनों से सामने आया है। शोकर्ताओं का मानना है कि लोग डाइट सोडा को यह सोचकर पीते हैं कि इसमें कम कैलोरी होती है। इस वजह से वे अनगिनत डाइट सोडा की गिलासेस पी जाते हैं। नतीजतन असंख्य कैलोरी वह अपनी बेली फैट में जमा कर चुके होते हैं। डाइट सोडा के बजाय व्हाइट टी पीना बेहतर विकल्प होता है। न्यूट्रीशन एंड मेटाबालिज्म स्टडी के मुताबिक व्हाइट टी स्टोर्ड फैट को कम करने में सहायक होता है।

पिज्जा

शायद ही कोई ऐसा युवा हो, जो पिज्जा खाने का शौकीन न हो। इसका स्वाद सबको अपनी ओर आकर्षित करता है। लेकिन पिज्जा में बहुत ज्यादा मात्रा में सेचुरेटेड फैट पाया जाता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि अन्य फैट की तुलना में सेचुरेटेड फैट पेट में ज्यादा तेजी से स्टोर होता है। इसका मतलब साफ है कि अगर आप पतले बेली की चाह रखती हैं, पिज्जा से तौबा करना ही होगा।

फ्रेंच फ्राइज

यह भी फैट से लदा हुआ होता है। वजन बढ़ाने में तेजी से आपकी मदद करता है। 20 साल तक हार्वर्ड द्वारा हुए एक अध्ययन के मुताबिक जो लोग रेग्युलरली फ्रेंच फ्राइज खाते हैं, उनका हर चार साल में 3 पाउंड से ज्यादा वजन बढ़ जाता है। इसका मतलब साफ है कि फ्रेंच फ्राइज से बेली फैट बहुत आसानी से बढ़ सकता है। इसके बजाय घर का बना स्वीट पोटेटो फ्राइज खा सकते हैं। लेकिन इसे कोकोनट आयल स्प्र से बनाएं। इसके साथ अपनी डाइट में सलाद भी शामिल करें।

नान वेज

कई अध्ययनों से इस बात की पुष्टि हुई है कि सिमित मात्रा में नान-वेज खाना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। लेकिन अगर रोजाना नान-वेज यानी मांसाहारी खाया जाए, तो यह स्वास्थ्य को फायदा पहुंचाने के बजाय नुकसान पहुंचा सकता है। एक चाइनीज रिसच से इस बात का खुलासा हुआ है कि रोजाना फैटी, फ्रेश रेडी मीट खाते हैं, तो इसका मतलब है कि एब्डोमिनल ओबेसिटी को न्योता दे रहे हैं। यानी आप नान-वेज जरूर खाएं, लेकिन सिमित मात्रा में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हर लड़का लड़कियों को इंप्रेस करने के लिए बोलते हैं ये 7 झूठ

जब आपको कोई लड़की पसंद आ जाए तो