जिन लड़कियों का ये अंग होता हैं बड़ा, शादी के बाद उनका स्वभाव हो जाता इतना बुरा…

हिन्दू धर्म में मान्यता है कि जिस घर में स्त्री का सम्मान होता है ! उस घर में देवी देवता भी निवास करना पसंद करते है! क्यूंकि हिन्दू धर्म में स्त्री को लक्ष्मी देवी का अवतार माना जाता है इसलिए किसी भी धार्मिक कार्य में स्त्री की उपस्थिति आवश्यक होती है ! उसका स्थान पुरुष से आगे रखा गया है ! पुराणों में भाग्यशाली स्त्री के बारे में वर्णन किया गया है ! स्त्री के अंगो को देख कर पता लगा सकते है कि कौन सी स्त्री अपने पति और परिवार के लिए भाग्यशाली हो सकती है !कुछ स्त्रियाँ ऐसी होती है जब उनका जन्म होता है तो उनका घर खुशियों से भर जाता है परिवार की किस्मत बदल जाती है !                                                                                                                                                                 

सामान्यत: सभी अविवाहित लोगों को यह जानने की जिज्ञासा रहती है कि उनका जीवन साथी कैसा होगा? उसका स्वभाव कैसा होगा? इस जिज्ञासा की शांति के लिए कुंडली अध्ययन की जा सकती है।

बॉलीवुड के ये मशहूर सितारे अंग्रेजी में नहीं कर सकते हैं बात, 4 थें नंबर वाले सितारे का नाम जानकर दंग रह जायेंगे आप

भृगु संहिता के अनुसार कुंडली का सप्तम भाव विवाह का कारक स्थान माना जाता है। अलग-अलग लग्न के अनुसार इस भाव की राशि और स्वामी भी बदल जाता है। अत: यहां जैसी राशि रहती है उस व्यक्ति का जीवन साथी वैसा ही रहता है।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com