प्लास्टिक, थर्मोकोल से बनी क्रॉकरी को लेकर CM योगी ने जारी किये सख्त निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2 अक्तूबर तक पूरे प्रदेश को खुले में शौच से मुक्त कर दिया जाएगा। डीएम अगर इस अभियान में रुचि लें तो स्वच्छ भारत मिशन को कामयाब बनाने में कोई दिक्कत नहीं होगी। उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि प्लास्टिक व थर्मोकोल से बनी क्रॉकरी पर रोक के आदेश को सख्ती से लागू करें। वे शुक्रवार रात जिलाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वच्छ भारत मिशन की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।प्लास्टिक, थर्मोकोल से बनी क्रॉकरी को लेकर CM योगी ने जारी किये सख्त निर्देश

सीएम ने शौचालय निर्माण में अच्छा कार्य करने वाले जिलों की सराहना और पिछड़े जिलों को लक्ष्य हासिल करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने के निर्देश दिए। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण में धीमी प्रगति पर उन्होंने श्रावस्ती, फतेहपुर, जौनपुर, आजमगढ़, सीतापुर व गोंडा के डीएम को काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। साथ ही प्रदेश में पॉलिथीन पर रोक संबंधी आदेश का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिए। कहा किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज राजेंद्र तिवारी ने मुख्यमंत्री को बताया कि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत प्रदेश में 2.39 करोड़ से अधिक परिवारों को इज्जतघर मुहैया कराए जा चुके हैं। शौचालय निर्माण में प्रदेश राष्ट्रीय स्तर पर पहले स्थान पर है।

अब तक शामली, हापुड़, बिजनौर, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, मेरठ, बागपत, मुजफ्फरनगर, अमरोहा, इटावा एवं सहारनपुर को खुले में शौचमुक्त घोषित किया गया है।  प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह ने बताया कि 18 मंडलों के कुल 12,007 वार्डों में से 10,727 को ओडीएफ घोषित किया जा चुका है।

31 दिसंबर तक सभी घरों को बिजली कनेक्शन से जोडें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सौभाग्य योजना के तहत प्रदेश के उन सभी घरों को 31 दिसंबर तक बिजली कनेक्शन देने की समयसीमा तय की है, जिन्हें अब तक कनेक्शन नहीं मिला है। उन्होंने सभी डीएम व विभागीय अफसरों को हर सप्ताह योजना की समीक्षा के निर्देश दिए हैं।

ऊर्जा मंत्री और प्रमुख सचिव ऊर्जा को भी सीएम ने हर 15 दिन में समीक्षा करने को कहा है। वे शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सौभाग्य योजना की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।

उन्होंने सबसे खराब प्रगति वाले 15 जिलों के डीएम और पावर कॉरपोरेशन के अधिकारियों को अभियान चलाकर मजरों व बस्तियों के वंचित घरों को विद्युत कनेक्शन देने के निर्देश दिए हैं। इन जिलों में लखीमपुर खीरी, इलाहाबाद, गोंडा, हरदोई, बहराइच, जौनपुर, सीतापुर, महराजगंज, फतेहपुर, फैजाबाद, बाराबंकी, शाहजहांपुर, प्रतापगढ़, उन्नाव और आजमगढ़ शामिल हैं। बिजली कनेक्शन देने के लिए उन्होंने कैंप लगाने और प्रचार-प्रसार के लिए ‘सौभाग्य रथ’ का संचालन लगातार करने को कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

स्वच्छ्ता अभियान में जूट के बैग बांट रहे डॉ.भरतराज सिंह

एसएमएस, लखनऊ के वैज्ञानिक की सराहनीय पहल लखनऊ