मुंबई: खुले हुए गटर में गिरा 3 साल का बच्चा, सुरक्षित निकालने में जुटे बचावकर्मी

खेलते-खेलते नाले में गिरा तीन साल का मासूम
मुंबई के गोरेगांव के अंबेडकर नगर में बुधवार देर रात को एक बच्चा खुले नाले में गिरकर बह गया। बच्चे का नाम दिव्यांशु बताया जा रहा है और उसकी उम्र करीब तीन साल है। हादसे की जानकारी मिलने के बाद बीएसमी और पुलिस की टीमें मौके पर पहुंच गई हैं। उन्होंने बच्चे की तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया है। इस घटना ने बीएमसी के दावों की पोल खोल दी है। अभी तक बच्चे का पता नहीं चल सका है। बच्चे के नाले में गिरने की घटना पास में ही लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।

खुले नारे में गिरा बच्चा

सीसीटीवी फुटेज में साफ दिखाई देता है कि जिस जगह पर दिव्यांशु नाले में गिरा वहां चहलकदमी हो रही है। इसी बीच बच्चा अपने घर से खेलता हुआ सड़क पर आ जाता है लेकिन जैसे ही वह वापस जाने के लिए मुड़ता है तो उसका पैर फिसल जाता है और वह नाले में गिर जाता है। वह पानी के तेज बहाव में बह गया। जिस समय यह घटना घटी उस समय वहां कोई भी मौजूद नहीं था। 

बेटे को ढूंढते हुए आई मां

घटना के 20 से 30 सेकेंड बाद बच्चे की मां उसे ढूंढते हुए बाहर आई। मगर उसे अपने जिगर का टुकड़ा कहीं नहीं मिला। जब पास के मस्जिद में लगे सीसीटीवी फुटेज को देखा गया तो पता चला कि दिव्यांशु खुले नाले में गिर गया है। यह देखकर उसके होश उड़ गए। मासूम के माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस और बीएमसी की टीमें बच्चे की तलाश में जुटी हुई हैं।

Loading...
Embedded video
बीएमसी पर फूटा गुस्सा
घटना के बाद स्थानीय लोगों के साथ पुलिस, बीएमसी और दमकलकर्मी की टीमें दिव्यांशु को तलाशती रही लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल पाया। आस-पास के नालों को खोलकर बच्चे को देखा गया लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला है। स्थानीय लोगों ने हादसे के लिए बीएमसी को जिम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है कि लंबे समय से बीएमसी को खुले नालों को ढंकने के लिए कहा जा रहा है लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बारिश के दिनों में यह नाले और बड़ा खतरा बन जाते हैं।
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *