इन कारणों से आप की त्वचा की रंगत होती हैं काली..!

- in जीवनशैली

पुरुषों और महिलाओं दोनों में त्वचा पर दाग और काले धब्बे होना सामान्य है। हालांकि इससे निपटने के लिए इन दिनों कई घरेलू नुस्खे और उपचार उपलब्ध है, तो आप जानना चाहते होंगे, कि त्वचा में इस रंजकता या पिगमेंटेशन का कारण क्या है? आपको आश्चर्यचकित हो जायेंगे ये जानकर की इसका सबसे बड़ा कारन आपकी रोजमर्रा की आदतें है।इन कारणों से आप की त्वचा की रंगत होती हैं काली..!

तो ये है वो 10 कारण:

1.कुकिंग

कोई भी ऐसी चीज़ जिससे आपकी त्वचा पर तापमान या गर्मी बढ़े पिगमेंटेशन का कारन हो सकता है। अगर आपकी त्वचा इसी प्रवृति की है तो आपको तेज़ आंच पर भोजन बनाने से बचना चाहिए, क्योंकि इसकी लौ तेज़ होती है।अगर आप इसे भी नही टाल सकते तो,अपने चहरे के नाज़ुक हिस्सों पर कोई सुरक्षात्मक क्रीम का लेप लगा लें।इसके अलावा सॉना, हॉट योग और हीट रूम्स से भी दूर रहना ही आपके लिए बेहतर होगा।

2.ब्लीच क्रीम का इस्तेमाल

ब्लीच क्रीम के लगातार इस्तेमाल से भी छाहि होने का खतरा रहता है। चूँकि इसके इस्तेमाल से बालों का रंग भी बदल जाता है,जो इसमें किसी मजबूत रसायन के इस्तेमाल की पुष्टी करता है ।लेकिन, फिर भी अगर आप ब्लीच करना नही छोड़ सकते तो आप मेक्विनॉल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

3.बालों को रंगना

जैसे ब्लीच क्रीम को इस्तेमाल करने से छाहि होने की सम्भावनाये होती है वैसा ही दुष्प्रभाव बालो को रंगने का भी होता है। ऐसा इसलिए होता है कि, भले ही आप अपने बालों को रंगते है पर इसमें मौजूद रसायन आपकी त्वचा तक पहुच ही जाते है। तो, ऐसा करने से बचें और रसायन मुक्त, प्राकृतिक हेयर कलर का इस्तेमाल करें।

4.सस्ते स्किनकेयर उत्पादों का इस्तेमाल

हो सकता है कि आप अपने चहरे के गोरेपन और सफाई करतें हों, लेकिन ख़राब गुणवत्ता के स्किनकेयर प्रोडक्ट्स भी छाहि के लिए जिम्मेदार हो सकते है। इसके लिए जरुरी है की आप सिर्फ उन्ही प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें जो की किसी प्रतिष्टित ब्रांड के हो और आपकी त्वचा को सूट भी करतें हों। इसके लिए यदि आप कंपनी के बारे में भली भांति नहीं जानते हो तो उनके उपभोक्ताओं की समीक्षा लें।

5. तेज़ धुप

त्वचा में पिगमेंटेशन के सबसे बुरे कारणों में है तेज़ धुप से होने वाला नुकसान, ये इसे और बढ़ा देता है अगर आप उचित सुरक्षा और ध्यान न रखें तो। इसके लिए आप हर 2 घंटे में जब आप धुप में बाहर निकले तो एसपीएफ30 नाम से आने वाले सन स्क्रीन लोशन का इस्तेमाल करें। बल्कि जब धुप तेज न हो तब भी आप इसका हल्का इस्तेमाल करें।

6.सुगन्धित उत्पादों का इस्तेमाल

हम सभी अच्छी खुशबु वाले उत्पादों का इस्तेमाल तो कटे ही है, लेकिन स्किन के पिगमेंटेशन में ये भी बहुत नुकसानदायक है। अगर आपको किसी भी प्रकार की एलर्जी है या आपकी त्वचा बहुत ही सवेंदनशील है तो आपको ऐसे उत्पादों का इस्तेमाल तुरंत ही बंद कर देना चाहिए। किसी भी तरह के परफ्यूम का त्वचा से सीधा संपर्क भी नहीं होने देना चाहिए।

7. घर्षण

चहरे पर किसी प्रकार का भी घर्षण पिगमेंटेशन का कारण भी हो सकता है। यह आपकी त्वचा को सूखी और परतदार बना देता है। ये आपके प्रतिदिन इस्तेमाल किये जाने वाले लूफा या किसी भी तरह के स्क्रब से भी हो सकता है।

8. तनाव

अगर आप ये सोचते है कि, आपके तनाव से आपकी त्वचा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है ,तो आप गलत हैं। जब आप अपने दिमाग पर बहुत जोर देतें हैं तो, आपके शरीर में मुक्त कणो की संख्या में वृद्धि होती है। यह त्वचा रंजकता को बढ़ा सकता है और तो और उनके लिए नए स्थानों को भी जन्म देता है।

9) धूम्रपान

धूम्रपान न केवल कई जहरीले रसायनों से आपके शरीर और त्वचा का नुकसान करता है, यह आपके शरीर से एंटीऑक्सीडेंट को भी घटाता है, जो आपकी त्वचा के नवीनीकरण और उसे स्वस्थ रखने के लिए भी जिम्मेदार होता है। ये दो कारक भी त्वचा रंजकता का कारण बन सकतें हैं।

10) हार्मोनल असंतुलन

जब आपके शरीर में एक हार्मोन असंतुलन होता है, तब भी आपके त्वचा रंजकता से ग्रस्त होने की संभावना होती है। यह इस तरह के थायराइड विकार, गुर्दे और जिगर की बीमारी, इंसुलिन प्रतिरोध, आदि को अन्तर्निहित किये रहता है। इस तरह की समस्याओ का समाधान करने के लिए आप को एक चिकित्सक द्वारा जाँच के लिए संपर्क करना चाहिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अगर आप भी मान लेगे ये एक शर्त, तो फ्री में शारीरिक संबंध बनाएगी वैश्याएँ

दुनियाभर में कम से कम 15 देश ऐसे