अगर रिश्ते में बनाएं रखना हैं रोमांस और प्यार, तो जरुर फॉलो करें ये गोल्डन रूल्स

- in जीवनशैली

जहां प्यार होता है वहां नोक-झोंक भी होती ही है। पति-पत्नी हो या प्रेमी-प्रेमिका, सभी के बीच कभी-न-कभी किसी न किसी बात को लेकर झगड़ा या छोटी-मोटी नोक-झोंक तो हुई होगी, लेकिन कई बार यही विवाद नियंत्रण से बाहर हो जाता है। इसकी वजह होती है, आपका खुद का बचाव करना या सिर्फ अपने आप को सही साबित करने की कोशिश करना।अगर रिश्ते में बनाएं रखना हैं रोमांस और प्यार, तो जरुर फॉलो करें ये गोल्डन रूल्स

आपकी यह आदत विवाद के दौरान आपको निर्दयी बना देती है, आप न चाहते हुए भी कुछ ऐसी बातें और फैसले कर लेते हैं, जो आपके रिश्ते को खराब कर सकती हैं। लेकिन कुछ खास बातों का ध्यान रखने से आप इन विवादों को खत्म कर सकते हैं।

‘मैं’ की जगह ‘हम’
किसी भी विवाद के दौरान ‘मैं’ और ‘तुम’ की जगह पर हम का इस्तेमाल अधिक करें, क्योंकि हम का इस्तेमाल करने पर आप उस व्यवहार में खुद को भी जोड़ते हैं। दूसरा आप पर गुस्सा करता रहता है, क्योंकि आप अपना बचाव नहीं कर पाते, इसलिए आपको विवाद को खत्म करना चाहिए और दूसरे को यह अहसास दिलाना चाहिए कि आप दोनों एक साथ हैं, आप दोनों ‘मैं’ नहीं ‘हम’ हैं। इसलिए यह आप दोनों के लिए बेहतर है कि किसी भी तरह के विवाद को आप अपने रिश्ते पर हावी न होने दें।

खुद को सही साबित करने की कोशिश न करें
विवाद के दौरान यह साबित करने की कोशिश करना कि किसकी गलती है या कौन सही है, यह बहुत गलत चीज है। इस दौरान स्थिति कुछ ऐसी रहती है कि कोई भी अपनी गलती मानने को तैयार नहीं होता। वह हर चीज के लिए सिर्फ दूसरे को ही जिम्मेदार समझता है, क्योंकि वह अपनी छवि को दोषपूर्ण बना लेता है। इस दौरान इस बात पर विवाद करने से विवाद सुलझने की बजाय और बढ़ सकता है। इसलिए विवाद के दौरान सिर्फ उसे सुलझाने पर ही ध्यान देना चाहिए और दोनों में से किसी एक को शांत रहना चाहिए।

दूसरे को भी सुनें
अक्सर हम दूसरे की बात को पूरा सुने बगैर ही उसे जवाब दे देते हैं। कई बार कहा कुछ और जाता है और हम कुछ और समझ लेते है। इसलिए जरूरी है कि जब कभी भी ऐसी परिस्थिति आए, तो दूसरे की बात को दोहराएं। इससे बात को लेकर कोई कन्फ्यूजन नहीं रहेगा। यह भी सही है कि कहने के तरीके से बात का अर्थ बदल जाता है और अगर आप दूसरे की बात को दोहरा लेंगे, तो यह परिस्थिति उत्पन्न नहीं होगी और आप उसकी भावनाओं को अच्छी तरह समझ जाएंगे। विवाद के दौरान यह जानने का प्रयास करें कि आखिर दूसरा इस दौरान कैसा महसूस कर रहा है। उस परिस्थिति में खुद को रखकर देखें। इस दौरान आपका व्यवहार कैसा होता? और जब आप खुद को दूसरे की जगह रखकर देखते हैं, तो आपको अहसास होता है कि आपका रूखा व्यवहार कितना अव्यवहारिक था।

दूसरों की सोच का सम्मान करें
कई बार लोग एक-दूसरे से अलग सोचते हैं और आपको इसका सामना करना ही पड़ेगा, लेकिन इन असहमतियों काे अच्छे से सामना करना ही आपके रिश्ते को बेहतर दिशा में ले जाएगा। दोनों को जानने की कोशिश करनी चाहिए कि किस बात या आदत से आपके साथी को परेशानी होती है। ऐसी कौन-सी बातें हैं, जो आप दोनों के रिश्ते के बीच आ रही है, उसे जाने और दूर करने की कोशिश करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अंडे में अंडा देखा है कभी, इसके फायदे जानकर पागल हो जाएगे

ऑस्‍ट्रेलिया के क्वींसलैंड में एक पोल्‍ट्रीफार्म में एक