चीन की प्रमुख बजट स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Xiaomi शेयर बाजार से पैसा जुटाने की योजना पर काम कर रही है. कंपनी ने हॉन्गकॉन्ग के शेयर बाजार में IPO लाने के लिए प्रक्रिया शुरू करते हुए अर्जी दी है. Xiaomi का IPO बीते चार साल में चीन की किसी कंपनी की ओर से लाया गया सबसे बड़ा IPO होगा. Xiaomi के लिए भारत भी एक बड़ा बाजार है. वह भारत में सबसे अधिक स्मार्टफोन बेचने वाली एक कंपनी है.

शेयर बाजार में लिस्टिंग से कंपनी की बाजार पूंजी 100 अरब डॉलर तक पहुंच सकती है. इससे पहले 2014 में अलीबाबा के IPO लाया था. अलीबाबा ने 2014 में IPO के जरिए 21.8 अरब डॉलर जुटाए थे. IPO का एलान करने से पहले Xiaomi ने निवेशकों के सामने पहली बार कंपनी की वित्तीय स्थिति का खुलासा किया. रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, 2017 में कंपनी का शुद्ध नुकसान 43.9 अरब युआन रहा, जबकि एक साल पहले कंपनी को मुनाफा हुआ था. हालांकि‍, इस दौरान कंपनी की आय 67.5 फीसद बढ़कर 114.5 अरब युआन पर पहुंच गया. 2017 में कंपनी का ऑपरेटिंग प्रॉफि‍ट 12.22 अरब युआन रहा जबकि एक साल पहले यह आंकड़ा 3.79 अरब युआन का था.

कई प्रोडक्ट्स बनानी है Xiaomi

50 सालों में पहली बार हुआ ऐसा, बैंकों से उठा लोगो विश्वास, भुगतना पड़ सकता है इसका अंजाम

स्मार्टफोन के साथ-साथ कंपनी ने हाल ही में कई और प्रोडक्ट लॉन्च किए हैं. हाल ही कंपनी ने भारत में सबसे पतले LED टीवी लॉन्च किया था. वह कई और इंटरनेट कनेक्टेड प्रोडक्ट्स और गैजेट्स भी बनाती है. हालांकि कंपनी को सबसे ज्यादा मुनाफा इंटरनेट सेवाओं से होता है. स्मार्टफोन बाजार में सस्ते प्रोडक्ट्स के चलते उसने सैमसंग और एप्पल जैसी स्थापित कंपनियों को कड़ी चुनौती दी है. हॉन्गकॉन्ग एक्सचेंज पर सोमवार से बदले हुए नियमों के बाद Xiaomi, IPO लाने वाली पहली कंपनी होगी. ज्यादा से ज्यादा टेक कंपनियों को आकर्षित करने के लिए एक्सचेंज के नियमों में हाल में ही बदलाव किए गए थे.