जानें, नवरात्रि में क्यों खाते हैं सेंधा नमक, क्या है महत्व

- in जीवनशैली, हेल्थ

खाना कितना भी स्वादिष्ट क्यों ना हो, बगैर नमक वह बेस्वाद ही लगता है. जायका बढ़ाने के अलावा नमक का सेहत के लिहाज से भी महत्व है. यह हमारे शरीर का पीएच स्तर बनाए रखता है और पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है. यही नहीं ब्लड प्रेशर मेंटेन रखने में भी यह मददगार है और इसकी कमी हो तो मांसपेशियों में क्रैम्प होने की आशंका बढ़ जाती है. लेकिन आपके मन में भी कई बार यह सवाल आता होगा कि नवरात्रि में सफेद नमक की जगह सेंधा नमक क्यों खाया जाता है.

इस बात पर पहुंचने से पहले कि नवरात्रि में सेंधा नमक क्यों खाते हैं, हम यह समझ लें कि सेंधा नमक होता क्या है. दरअसल, सेंधा नमक को आयुर्वेद में सैंधावा भी कहते हैं. ऐसा माना जाता है कि इसे सबसे पहले सिंध क्षेत्र में बनाया गया था. आयुर्वेद में पांच तरह के नमक का उल्लेख है. पहला समुद्रा, जो सूखा नमक होता है.

दूसरा रोमाका या सामभार, जिसे गुजरात के ताल से और राजस्थान के सामभार झील से निकाला जाता है. तीसरा नमक होता है विदा, जो अमोनियम नमक होता है. इसे रोमाका नमक और आंवला चूरन से बनाया जाता है. चौथा नमक होता है सौवर्चला लवाना और पांचवा सेंधा नमक, जिसका नवरात्रि के दौरान खास महत्व है.

पाना चाहते हैं मनचाहा जीवनसाथी तो करें ये छोटा सा उपाय, यकीन तो आजमा लीजिए

नवरात्रि में सेंधा नमक ही क्यों

आयुर्वेद में सेंधा नमक को सबसे शुद्ध नमक के रूप में देखा जाता है. क्योंकि यह अनप्रोसेस्ड होता है. वहीं दूसरी तरफ आप जो सफेद नमक खाते हैं उसे वाष्पीकरण से बनाया जाता है और उसमें आयोडीन भी मिलाया जाता है. सेंधा नमक में किसी भी प्रकार का केमिकल नहीं होता.

नवरात्रि के दौरान व्रत रखने वाले लोग आमतौर पर सेंधा नमक ही खाते हैं. सेंधा नमक में दरअसल शरीर को ठंडा पहुंचाने वाले गुण होते हैं. जबकि दूसरे नमक की तासीर गर्म होती है. सेंधा नमक में सोडियम का स्तर कम होता है और पोटैशियम ज्यादा होता है. इसलिए यह ब्लड प्रेशर को प्रभावित किए बिना ही इलेक्ट्रोलाइट्स को मेंटेन रखता है.

सेंधा नमक के फायदे
सेंधा नमक आंखों की सेहत के लिए अच्छा होता है. यह रक्तचाप का स्तर बनाए रखने में मददगार होता है. इसमें आयरन, जिंक, मैग्नीशियम और कॉपर जैसे खनीज होते हैं. नवरात्रि साल में दो बार आती है, जब मौसम में बदलाव होता है. इसलिए इस दौरान व्रत रखने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है.

प्रोसेस्ड फूड को पचने में वक्त लगता है. सेंधा नमक में किसी प्रकार का मिश्रण नहीं होता. यह पाचन तंत्र के भी अच्छा होता है. इससे मेटाबोलिज्म बढ़ता है और प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है. शरीर को पोषक तत्व अवशोषित करने में यह मदद करता है.

जब आप व्रत करते हैं तो आप जो भी थोड़ा बहुत खाते हैं, उसके पोषक तत्व का आप भरपूर लाभ उठा सकें, इसलिए सेंधा नमक खाने की सलाह दी जाती है.

 
 
 

You may also like

अगर आपके शरीर के इस हिस्से में होता है दर्द तो आपको होने वाला है कैंसर

कैंसर एक ऐसी अवस्था है जिसमें शरीर के