उत्तराखंड में भाजपाइयों की गुटबाजी से नाराज इस बड़े मंत्री ने छोड़ा मंच

जसपुर, उधमसिंह नगर: भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष के विरोध को लेकर कैबिनेट मंत्री के स्वागत समारोह में हंगामा हो गया। इससे मंत्री कार्यक्रम शुरू होने से पहले ही मंच छोड़ कर चले गए। पीछे से प्रदेश एवं जिला स्तर से लेकर नगर मंडल तक के पदाधिकारी भी उनके साथ उठकर चल दिए। इससे कार्यक्रम स्थल पर पूर्व विधायक व उनके समर्थक ही रह गए। इस पूरे घटनाक्रम से भाजपा की गुटबाजी जो अभी तक अंदरखाने चल रही थी वह प्रकाश में आ गई। उत्तराखंड में भाजपाइयों की गुटबाजी से नाराज इस बड़े मंत्री ने छोड़ा मंच

जनपद प्रभारी बनने के बाद शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक का राष्ट्रीय राजमार्ग मार्ग स्थित एक बैंक्वेट हॉल में पहली बार स्वागत कार्यक्रम रखा गया था। मंत्री भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष विनय कुमार रूहेला के साथ कार्यक्रम स्थल पर पहुँचे। मंच पर बैठते ही कार्यकर्ताओं की ओर से विनय रूहेला मुर्दाबाद, भाजपा जिंदाबाद के नारे लगने लगे। विरोध की वजह पूछने पर कार्यकर्ताओं ने प्रदेश उपाध्यक्ष पर विधानसभा चुनाव में भितरघात का आरोप लगाया। इस पर मंत्री ने उनके साथ आने का हवाला दे शांत रहकर सम्मान देने को कहा, लेकिन कार्यकर्ता नहीं माने और लगातार नारेबाजी करते रहे।

इससे नाराज शहर विकास मंत्री स्वागत कराए बिना ही मंच छोड़कर चले गए। उनके पीछे जिलाध्यक्ष शिव अरोरा, उपाध्यक्ष राजू भंडारी, जिलामंत्री मनोज पाल, विवेक सक्सेना, नगर अध्यक्ष बलराम तोमर, नगर मंत्री डॉ.सुदेश चौहान, ग्रामीण मंडल अध्यक्ष प्रेम सहोता व किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष खिलेंद्र चौधरी भी काशीपुर की ओर रवाना हो गए। इसके बाद पूर्व विधायक डॉ.शैलेंद्र मोहन सिंघल ने सभा को संबोधित किया। 

यह था पूरा मामला 

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष विनय कुमार रूहेला विस चुनाव के समय जसपुर सीट से टिकट मांग रहे थे। तब पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया तो उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान किया। हालांकि बाद में पार्टी पदाधिकारियों ने उन्हें मना लिया था, लेकिन भाजपा प्रत्याशी डॉ.शैलेंद्र मोहन सिंघल चुनाव हार गए। उसके बाद से एक-दूसरे पर हार का ठीकरा फोड़ते हुए कार्यकर्ताओं में भितरघात की बात सामने आने लगी। अन्य पदाधिकारियों समेत प्रदेश उपाध्यक्ष पर आरोप लगने लगे थे। 

अनुशासनहीनता की हो रही जांच 

भाजपा के जिलाध्यक्ष शिव अरोरा के मुताबिक जो अनुशासनहीनता हुई है उसके खिलाफ जिला स्तर पर जांच की जा रही है। रिपोर्ट आते ही तत्काल कार्रवाई संभव है। पार्टी में किसी भी सूरत अनुशासनहीनता बर्दाश्त नही की जाएगी। 

बहारी लोगों के कारण हुआ व्यावधान 

जसपुर के पूर्व विधायक डॉ.शैलेंद्र मोहन सिंघल के मुताबिक मंत्री के काफिले में कुछ बाहरी लोग भी आए थे। कार्यकर्ताओं में इसको लेकर रोष प्राप्त था। जिसके कारण कार्यक्रम में व्यवधान हुआ और शहर विकास मंत्री को जाना पड़ा। 

पार्टी फोरम में होगी कार्रवाई 

शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के मुताबिक मुझे नहीं नहीं पता कार्यकर्ता क्यों नाराज हैं और क्यों विरोध कर रहे हैं। फिलहाल कार्यक्रम में अनुशासनहीनता हुई है। इस मामले में पार्टी फोरम पर कार्रवाई की जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

…तो इस कारण अखिलेश यादव ने अपनी साइकिल यात्रा की निरस्त

नई दिल्‍ली: सपा नेता अखिलेश यादव 19 सितंबर से लोकसभा चुनाव