ISRO की इस महिला वैज्ञानिक ने अंटार्कटिका में बिताया एक साल बनाया रिकॉर्ड

- in ज़रा-हटके

जीवन में अगर आप जीवन में कुछ अलग करना चाहते हैं तो उम्र किसी की मोहताज नहीं होती. आज एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने 56 साल की उम्र में अंटार्कटिका में एक साल बिताकर अपने नाम रिकार्ड दर्ज कर लिया है. इस महिला का नाम मंगला मणि है जो ISRO में वैज्ञानिक है. रिपोर्ट्स की माने तो उन्होंने अंटार्कटिका में लगभग 403 दिन बिताए हैं. वह नवंबर 2016 में अपनी टीम के साथ अंटार्कटिका में स्थित भारत के रिसर्च स्टेशन भारती गई थीं. टीम में कुल 23 सदस्य शामिल थे. जिसमें वह अकेली महिला थी.

ISRO की इस महिला वैज्ञानिक ने अंटार्कटिका में बिताया एक साल बनाया रिकॉर्डऐसा था मिशन

मंगला पिछले साल दिसंबर में अपने मिशन को पूरा करके वापस लौटी हैं. इस मिशन का एक्सपीरियंस शेयर करते हुए उन्होंने बताया कि अंटार्कटिका का ये मिशन काफी चुनौतीपूर्ण रहा. सबसे ज्यादा मुश्किलें वहां के मौसम को झेलने में आई. उन्होंने कहा मुझे और मेरी टीम को रिसर्च सेंटर से बाहर निकलने के दौरान काफी सावधानी बरतनी पड़ती थी. वहीं उन्होंने कहा ठंड इतनी थी कि बाहर दो से तीन घंटे से ज्यादा नहीं रहा जाता था.

आपको बता दें, मंगला 2016-17 के दौरान अकेली ऐसी महिला वैज्ञानिक हैं जो अंटार्कटिका के मिशन पर गई थीं. वहां चीन और रूस के रिसर्च स्टेशन पर भी इस दौरान कोई महिला वैज्ञानिक नहीं थी. अपनी टीम के बारे में मंगला ने कहा, ‘मिशन के दौरान टीम ने काफी सपोर्ट किया और मुझे किसी तरह की परेशानी नहीं हुई. वह मंगला और उनकी टीम अंटार्कटिका में भारत के रिसर्च स्टेशन पर ध्रुवीय कक्षा में घूम रहे सैटलाइट्स के डेटा लेने के लिए गई थीं. वहीं 56 साल की उम्र में मंगला का ये जज्बा देखकर सब हैरान है. अंटार्कटिका मिशन में जाने से पहले उनकी शारिरिक और मानसिक जांच हुई थी. जिसमें वह पूरी तरह से पास हुई.

You may also like

हज़ारों साल पहले गायब हो गया था ये शहर, इस तरह आया सामने…

कई बार ऐसी चीज़ों सामने आ जाती हैं