बिहार में पाकिस्तानी बच्ची को बना दिया स्वच्‍छता का ब्रांड एंबेसडर, जानिए पूरी बात

पटना। बिहार के जमुई में ‘स्वच्छ जमुई-स्वस्थ जमुई’ की पहल के तहत जागरूकता के लिए जिला जल व स्वच्छता समिति ने अजब काम किया है। उसने प्रचार-प्रसार के लिए जो नोटबुक तैयार किया है, उसके कवर पेज का ब्रांड एंबेसडर एक पाकिस्तानी बच्ची को बना दिया है। तस्वीर में बच्ची पेंटिंग प्रतियोगिता में पाकिस्तानी झंडा बना रही है। पाकिसतान में यूनिसेफ इस तस्वीर का उपयोग शिक्षा के प्रचार-प्रसार में कर रही है। तत्कालीन डीएम डॉ. कौशल किशोर ने इस तस्वीर के प्रकाशन की स्वीकृति दी थी।

यह है मामला

जानकारी के अनुसार जमुई में 'स्वच्छ जमुई-स्वस्थ जमुई' अभियान के तहत जागरूकता लाने के लिए जिला जल व स्वच्छता समिति प्रचार-प्रसार कर रहा है। इसके लिए उसने एक नोटबुक तैयार कराया है। इसी नोट बुक के कवर पेज पर दिख रही बच्ची पाकिस्‍तान की है। यह तस्‍वीर किसी पेंटिंग प्रतियोगिता की है, जिसमें वह पाकिस्तान का झंडा बना रही है। बताया जाता है कि इस तस्‍वीर का उपयोग यूनिसेफ पाकिस्‍तान में शिक्षा के प्रचार-प्रसार में कर रही है।

तत्‍कलीन जिलाधिकारी ने दी थी प्रकाशन की अनुमति

जिला जल व स्‍वच्‍छता समिति के समन्वयक सुधीर कुमार के अनुसार समिति के अध्यक्ष व तत्कालीन जिलाधिकारी डॉ. कौशल किशोर ने इस नोटबुक के प्रकाशन की अनुमति दी थी। समिति ने ऐसे करीब पांच हजार नोटबुक व स्वच्छता कुंजी का स्कूलों में वितरण किया है।

समिति ने जिम्‍मेदारी से पल्‍ला झाड़ा, अब होगी जांच

समिति के सदस्य सचिव रामनिरंजन चौधरी ने सफाई दी कि समिति ने नोटबुक छापने की अनुमति दी थी, कवर पेज पर पाकिस्तानी बच्ची का फोटो छापने की नहीं। इसके लिए समिति जिम्‍मेदार नहीं है। हालांकि, जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने मामले में जांच व विधिसम्‍मत कार्रवाई का आश्‍वासन दिया।

=>
=>
loading...