इस बड़े विवाद की वजह से अब सनी लियॉन कभी नहीं कर सकती ‘कौर’ शब्द का इस्तेमाल

- in मनोरंजन

आजकल बाॅलीवुड में बायोपिक बनाने का क्रेज़ बढ़ता जा रहा है। जो दर्शकों को काफी एंटरटेन कर रहा है। संजय दत्त पर बनी बायोपिक संजू ने पूरी बाॅलीवुड इंडस्ट्री में तहलका मचाया। संजू के बाद सनी लियोनी पर बनने जा रही बायोपिक ‘करनजीत कौर: द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ सनी लियोन’ को लेकर सुर्खियों में हैं।

सनी अब अपनी बायोपिक के प्रमोशन में बिजी हैं। लेकिन सनी की फिल्म ‘करनजीत कौर’ रिलीज़ होने से पहले विवादों में घिर गई है। इस फिल्म में उनके बचपन से लेकर उनके पॉर्न स्टार और बॉलीवुड एक्ट्रेस बनने तक का सफ़र दिखाया गया है।

बीती 5 जुलाई को फिल्म का ट्रेलर रिलीज़ होने के बाद से वीडियो स्ट्रीमिंग वेबसाइट यूट्यूब से लेकर ट्विटर और फेसबुक पर फिल्म के समर्थन से लेकर इसके विरोध में तमाम टिप्पणियां देखने को मिल रही हैं।

वहीं ये भी कहा जा रहा है कि ‘एक पंजाबी सिख लड़की होने के नाते आपने बस अपना ही नहीं, अपने परिवार का नाम भी बर्बाद किया है। एक असफल हुए व्यक्ति की बायोपिक में कोई रुचि नहीं हैं।’ लेकिन शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने इस फिल्म के नाम पर आपत्ति जताते हुए आधिकारिक रूप से इसका विरोध करने का फ़ैसला किया है।

जी हां, वहीं शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने फ़िल्म के नाम पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि सनी लियोनी ने फिल्म के नाम में कौर शब्द का इस्तेमाल क्यों किया है। इस दाैरान समिति के प्रवक्ता दलजीत सिंह बेदी दवारा कहा गया है कि ‘करनजीत कौर’ रिलीज़ होने से पहले विवादों में घिर गई है। उनका काम पॉर्न स्टार का था। वो बचपन में सिख थीं और आगे उन्होंने अपना धर्म परिवर्तन करके ईसाई धर्म को अपनाया है, उनके पति भी ईसाई धर्म के ही हैं। सिख धर्म में सिंह और कौर जैसे उपनामों का बेहद महत्वपूर्ण स्थान है। ऐसे में उन्हें इस शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था जिससे सिख धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचती हो। इसलिए उनसे कहा गया है कि वह कौर शब्द का इस्तेमाल न करें।’

जब साल विद्या बालन से माँ बनने के सवाल पर दिया ऐसा बयान, की सबकी बोलती हुई बंद

उन्हाेंने आगे कहा कि इस फ़िल्म में कौर शब्द के इस्तेमाल पर वह अपने विरोध को आगे बढ़ाने की कोशिश करेंगे। जब दलजीत सिंह बेदी से ये जानने की कोशिश की गर्इ कि ‘कौर’ शब्द सनी लियोनी के व्यक्तिगत जीवन से जुड़ा हुआ है तो ऐसे में वह इस शब्द का प्रयोग क्यों नहीं कर सकतीं।

ताे इस पर बेदी बताते हैं कि ‘सनी लियोनी एक ईसाई होने के नाते जो करना हो वो कर सकती हैं, लेकिन वह इन शब्दों का प्रयोग न करें और वह अपनी फ़िल्म को ‘सनी लियोनी – द अनटोल्ड स्टोरी’ के रूप में क्यों रिलीज़ नहीं करती हैं।’

सिख समुदाय में महिलाएं अपने नाम के आख़िर में ‘कौर’ शब्द का इस्तेमाल किया जाता है जिसका मतलब राजकुमारी होता है। दरअसल सिख समुदाय के दसवें गुरु गुरु गोविंद सिंह ने लोगों को धर्म में शामिल करते हुए महिलाओं को कौर सरनेम और पुरुषों को सिंह नाम दिया था। इसलिए सनी लियोन सिख भावनाओं को इस फिल्म के जरिए ठेस पहुंचाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

‘इंडियाज़ बेस्ट ड्रामेबाज़’: बच्चों ने शाहिद कपूर के बेटे के लिए ये गिफ्ट देकर सबको कर दिया हैरान

एक्टिंग पर आधारित देश का जाना-माना रियलिटी शो