दिल्ली में आज से होगा सराय काले खां से एम्स तक सिग्नल फ्री यातायात

- in दिल्ली, राज्य

नई दिल्ली। जाम से जूझ रहे दिल्ली-एनसीआर के लोगों के लिए शनिवार शाम से बारापुला एलिवेटेड कॉरिडोर फेज-2 खोल दिया जाएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शाम पांच बजे इसे जनता को समर्पित करेंगे। इसके शुरू हो जाने से जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम से लेकर एम्स तक भी लोग सिग्नल फ्री यात्रा कर सकेंगे।दिल्ली में आज से होगा सराय काले खां से एम्स तक सिग्नल फ्री यातायात

पहले से बने सराय काले खां से लेकर जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम तक के हिस्से को मिला लें तो सरायकाले खां से एम्स तक लोगों को जाम नहीं मिलेगा। बारापुला एलिवेटेड कॉरिडोर फेज-2 जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम से शुरू होकर आइएनए मार्केट स्थित अरविंदो मार्ग तक जाता है। इसकी लंबाई 2038 मीटर है। कॉरिडोर छह लेन का है।

बता दें कि इसका शिलान्यास फरवरी 2013 में तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने किया था। परियोजना पूरी होने में पांच साल लग गए। इसके लिए 530 करोड़ रुपये की अनुमानित धनराशि निर्धारित की गई थी। इतनी ही धनराशि में यह योजना पूरा हो गई। इसके शुरू हो जाने से वाहन चालकों के सराय काले खां से लेकर एम्स तक आने-जाने में खर्च होने वाले 20 मिनट बचेंगे। लोगों के बचने वाले समय, कारों के ईधन और कार्बन डाई ऑक्साइड के उत्सर्जन को रोकने के लाभ को लगा लें तो 160 करोड़ रुपये के बराबर प्रति साल बचत होगी।

पर्यावरण को फायदा

इस सिग्नल फ्री कॉरिडोर के शुरू हो जाने से पर्यावरण के लिहाज से भी बहुत लाभ मिलेगा। जाम मुक्त यातायात मिलने से कम से कम साढ़े दस टन कार्बन डाई ऑक्साइड का उत्सर्जन प्रतिदिन रोका जा सकेगा। इतनी बड़ी मात्रा में कार्बन डाई ऑक्साइड को सोखने के लिए पौने दो लाख पेड़ों की आवश्यकता होती है।

किसे होगा लाभ

इस कॉरिडोर को रिंग रोड से भी मिलाया गया है। एयरपोर्ट की ओर से आने वाले लोग यमुनापार या नोएडा जाने के लिए इन सिग्नल फ्री कॉरिडोर का उपयोग कर सकेंगे। इसमें दो लूप बनाए गए हैं। इसके शुरू होने पर एम्स से लेकर सराय काले खां तक कोई लालबत्ती नहीं होगी। इस परियोजना के तहत जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम से सराय काले खां बस अड्डे तक पहले से ही यातायात सिग्नल फ्री है। पहले फेज में वर्ष 2010 में सराय काले खा से लेकर जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम के बीच बारापुला एलिवेटेड कॉरिडोर बना हुआ है।

कब पूरी होनी थी परियोजना

परियोजना दिसंबर 2015 में पूरी होनी थी। बाद में समय बढ़ाकर सितंबर 2017 और फिर मार्च 2018 किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

केजरीवाल ने ‘आयुष्मान भारत’ पर कसा तंज, योजना को बताया ‘जुमला’

नई दिल्लीः दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय