एक सरकारी बैठक के दौरान प्लास्टिक की गिलास में चाय परोसने पर 200 कुल्हड़ का जुर्माना लगाया गया. वाकया कुछ इस प्रकार है रायबरेली जनपद में मिशन इन्द्रधनुष योजना के अंतर्गत होने वाले टीकाकरण की तैयारियों को लेकर बैठक चल रही थी. इस बैठक में शामिल अधिकारियों और कर्मचारियों को प्लास्टिक के गिलास में चाय सर्व की जा रही थी ये देख सीडीओ राकेश कुमार बिफर गए और उन्होंने तुरंत रायबरेली सीएमओ डॉ. डीके सिंह को तलब किया और फौरन प्लास्टिक गिलास कार्यालय से हटवाने को कहा. यही नहीं नाराज सीडीओ ने सीएमओ पर 200 कुल्हड़ का जुर्माना लगाते हुए निर्देश दिया कि वो कुल्हड़ के लिए रूपये 15 जून तक नाजिर के पास जमा करवा दें.

एक कर्मचारी के मुताबिक इस मसले पर सीडीओ के सख्त तेवर से अधिकारी व कर्मचारी भी सकते में आ गए. मिशन इंद्रधनुष से सम्बंधित टीकाकरण अभियान की समीक्षा को लेकर गुरुवार शाम विकास भवन में मीटिंग के दौरान अधिकारियों व कर्मचारियों को प्लास्टिक के गिलास में चाय परोसी जा रही थी. सीडीओ राकेश कुमार ने जब ये देखा तो नाराज हो गए, उन्होंने सीएमओ को बुलाया और उन पर 200 कुल्हड़ों का जुर्माना लगा दिया.

जम्मू-कश्मीर में सीजफायर का नहीं पड़ा कोई असर, इन 8 हमलों के बाद सरकार भी पसोपेश में

इस बारे में सीडीओ राकेश कुमार कहा कि डीएम रायबरेली ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि सरकारी दफ्तरों में पर्यावरण संरक्षण को लेकर जागरूकता अपनाई जाए. डीएम के निर्देशानुसार किसी भी मीटिंग या सरकारी क्रिया-कलाप में प्लास्टिक की बनी चीजें व पॉलीथिन का प्रयोग वर्जित है. सीडीओ ने कहा कि जो भी अधिकारी सरकारी कार्यालय में प्लास्टिक का प्रयोग करेगा, उस पर कुल्हड़ों का जुर्माना लगाया जाएगा. पर्यावरण के प्रति इस प्रकार की जागरूकता समय की मांग है.