अब ड्रोन रखेगा आतंकियों पर नजर, कमांड मिलते ही कर देगा ढेर

- in पंजाब

आए दिन बॉर्डर पर देश के वीर जवानोंं की शहादत से आहत चरणजीतपुरा के ईशान अग्रवाल ने फोटोम आई नाम का एक ऐसा ड्रोन मॉडल बनाया जो न केवल दुश्मनों पर नजर रखेगा, बल्कि कमांड देने पर उसे वहीं ढेर कर देगा। वर्ष 2016 में डेविएट से बीटेक करने वाले ईशान ने बताया कि  पिछले साल उसने जनवरी में इस मॉडल पर काम करना शुरू किया था। तब मैंने टीवी पर देखा कि बिना किसी बड़ी लड़ाई के भी बॉर्डर पर घुसपैठ रोकने या गोलीबारी में ही हमारे जवान अपनी जान गंवा रहे हैं। तब मैंने सोचा क्यों न ऐसा कुछ बनाया जाए कि मशीन के जरिए दुश्मनों पर नजर रखी जाए।

अब ड्रोन रखेगा आतंकियों पर नजर, कमांड मिलते ही कर देगा ढेर

ईशान का कहना है कि मैंने इंटरनेट पर काफी रिसर्च की और किताबें पढ़ीं। फिर ड्रोन का आइडिया आया। पिता लैंड डवलपर रमेश अग्रवाल ने भी काफी सहयोग दिया। मॉडल पर अब तक करीब चार लाख रुपए लग चुके हैं। अब अगर ड्रोन बॉर्डर पर दुश्मन पर नजर रखे और भनक लगते ही उसे वहीं मार गिराए तो हमारे बहुत सारे सैनिकों की जान बच सकती है।

एमआइटी से मिला आइडिया

ईशान ने बताया कि अमेरिका की मसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआइटी) में भी इस तरह के मॉडल पर काम चल रहा है। उन्हें भी वहीं से आइडिया मिला। सॉफ्टवेयर ड्रोन डिजाइन में मैंने टेस्ट करके भी देखा है। ये मॉडल 96 फीसद कारगर है।

चंडीगढ़ हवाई अड्डे के पास बसाया जाएगा नया शहर

गुजरात सरकार के सामने पेश करेंगे मॉडल

ईशान ने बताया कि उन्होंने डिफेंस में इस मॉडल के प्रयोग के लिए राज्य सरकार को भी अप्रोच किया था लेकिन उनकी ओर से कोई जबाव नहीं आया। फिर मैंने गुजरात सरकार में डिफेंस विभाग के सुभाष को अप्रोच किया। अगले महीने उनके सामने मॉडल पेश किया जाएगा।

ये है खासियत

  • चार लाख रुपये है लागत, सवा साल में किया तैयार किया
  • 5 से 8 किमी की ऊंचाई तक जा सकता है
  • 100-200 फीट एरिया की स्कैनिंग करेगा
  • 12 किलोग्राम तक वजन उठाने में सक्षम

स्कैन करके बता देगा आतंकी कहां छिपे हैं

  • फोटोम आई ड्रोन 24 घंटे काम कर सकता है। ड्रोन 100 से 200 फीट एरिया स्कैन करके यह बता सकता है कि आतंकी कहां छिपे हैं।
  • ड्रोन पांच से आठ किमी तक की ऊचांई पर भी जा सकता है। इस पर दुश्मन की नजर आसानी नहीं पड़ती।
  • इसमें फाइटर गन लगाई जा सकती है। ड्रोन 12 किग्रा तक वजन उठा सकता है।
  • जब कुछ डिटेक्शन होगी तो ड्रोन कंट्रोल रूम में सिग्नल भेजेगा। वहां से कमांड मिलने पर फायरिंग कर देगा।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नवजोत सिद्धू को कैप्टन ने दिया बड़ा झटका, रेत खनन पर तेलंगाना मॉडल को नकारा

 स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को उनके