PNB घोटालाः नीरव मोदी के कई ठिकानों पर छापेमारी, जानिए अब तक की कार्रवाई

- in Mainslide, राष्ट्रीय

देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले में मुख्‍य आरोपी के रूप में उभरकर सामने आए जाने माने आभूषण कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ ईडी की कड़ी कार्रवाई जारी है। देश भर में उनके कई ठिकानों पर छापेमारी की गई है। मुंबई के एक शोरूम में कल से छापेमारी चल रही है। बताया जा रहा है कि ईडी के अधिकारी अभी भी वहां मौजूद हैं। वहीं मेहुल चोकसी के दर्जन भर से अधिक ठिकानों पर भी छापेमारी जारी है।

घोटाले की आधी रकम हुई जब्‍त

आपको बता दें कि पीएनबी घोटाले के खुलासे के एक दिन के भीतर ही ईडी 11,400 करोड़ रुपए के घोटाले की आधी रकम जब्त करने में सफल रहा है। गुरुवार देर शाम तक आरोपियों की 5100 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की जा चुकी थी। ईडी की कोशिश आरोपियों की अधिक से अधिक संपत्ति जब्त कर घोटाले की रकम बरामद करने की है।

देश के करोड़ों छात्रों को पीएम मोदी ने दिया परीक्षा मंत्र, कहा- सफलता के लिए

ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार आरोपियों के मुंबई, सूरत, जयपुर, दिल्ली और हैदराबाद स्थित 17 ठिकानों पर छापा मारा गया। इस दौरान कुल 5,100 करोड़ रुपए मूल्य की ज्वेलरी, सोना और हीरे जब्त किए गए। 5100 करोड़ रुपए इनकी बुक वैल्यू है। यानी इनकी बाजार की कीमत इससे कहीं ज्यादा होगी। इनमें से अकेले हैदराबाद में 3800 करोड़ रुपये की ज्वेलरी, सोना और हीरे जब्त किए गए। जयपुर में भी बड़ी मात्रा में ज्वेलरी, सोना और हीरे मिले हैं, जिनकी कीमत आंकी जा रही है। यानी जब्ती की रकम और बढ़ सकती है।

हीरे, ज्वेलरी और सोना जब्त करने के साथ ही ईडी ने आरोपियों के मुंबई स्थित छह ठिकानों को सील कर दिया है। वहीं नीरव मोदी के दफ्तर से मिले 3.9 करोड़ रुपये की फिक्स डिपोजिट को भी ईडी ने कब्जे में ले लिया है।

एक-दो दिनों तक जारी रहेगी कार्रवाई

ईडी के अधिकारी के अनुसार जैसे-जैसे आरोपियों के नए ठिकानों का पता चल रहा है, छापे की कार्रवाई आगे बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि अगले एक-दो दिनों तक यह जारी रह सकता है। इसके साथ ही ईडी आरोपियों की अचल संपत्ति का भी पता लगा रही है, जिन्हें बाद में जब्त किया जाएगा। ईडी अधिकारी ने आश्वस्त किया कि इस बार घोटाले की अधिकांश रकम को आरोपियों से बसूल कर लिया जाएगा।

पकड़ने को लेकर भी कार्रवाई तेज 

नीरव मोदी के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया है। वहीं इंटरपोल को भी अलर्ट कर दिया गया है। नीरव मोदी के अलावा उनकी पत्‍नी एमी मोदी, भाई निशाल मोदी और मेहुल चौकसी के खिलाफ इंटरपोल का डिफ्यूजन नोटिस जारी किया गया है। दरअसल, सूत्रों से जानकारी मिली है कि नीरव मोदी देश छोड़कर भाग गए हैं और स्विट्जरलैंड में हो सकते हैं। ऐसे में उन्‍हें पकड़ने को लेकर भी कार्रवाई तेज हो गई है।

किसने कब छोड़ा देश
– नीरव मोदी 1 जनवरी को बेल्जियम के नागरिक भाई निशाल मोदी के साथ। 
– नीरव की अमेरिकी मूल की पत्नी एमी और पार्टनर मेहुल चौकसी (गीतांजलि ज्वैलर्स) 6 जनवरी को। 

आरोपियों के पासपोर्ट होंगे निरस्त

ईडी को चिंता सता रही है कि विदेश रह रहा नीरव मोदी, उसकी पत्नी अमी मोदी और मेहुल चोकसी घोटाले के खुलासे के बाद कहीं वापस नहीं लौटे और विजय माल्या व ललित मोदी की तरह विदेश में ही न रह जाए। इस आशंका को देखते हुए ईडी ने विदेश मंत्रालय को इन तीनों का पासपोर्ट रद्द करने के लिए कह दिया है। वैसे ईडी को अभी तक यह साफ नहीं है कि अमेरिका की रहने वाली अमी मोदी के पास भारतीय पासपोर्ट है या नहीं। माना यह जा रहा है कि वह अमेरिकी नागरिक हैं।

सरकार ने कहा- नहीं बचेगा कोई

देश के सबसे बड़े बैंक पंजाब नेशनल बैंक में फ्रॉड पर सख्त रुख अख्तियार करते हुए सरकार ने साफ कहा है कि इस मामले में सरकारी बैंक की पूरी धनराशि वसूल की जाएगी और किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। सरकार ने यह भी स्पष्ट किया कि बैंक इस मामले के लिए जरूरी प्रॉविजनिंग (घाटे की भरपाई के लिए अलग से धन रखना) करेगा और इसके लिए उसके पास पर्याप्त धन है।

पीएनबी घोटाले से मचा है हड़कंप

पीएनबी में 11,400 करोड़ रुपये के जालसाजी का मामला सामने आने को लेकर पूरे बैंकिंग क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। पीएनबी की एक ब्रांच ने अरबपति ज्वैलर नीरव मोदी और उनसे जुड़ी कंपनियों को (एलओयू) लैटर ऑफ अंडरटेकिंग और फॉरेन लैटर ऑफ क्रेडिट (एफएलसी) जारी किए थे, जिसके आधार पर उन्होंने विदेशों में स्थित भारतीय बैंकों से कर्ज उठाया। दरअसल, एलओयू एक पत्र होता है, जो एक बैंक अपने ग्राहक के लिए दूसरे बैंक को जारी करता है। एलओयू जारी होने पर दूसरा बैंक उक्त ग्राहक को उस पत्र के आधार पर लोन दे सकता है।

आठ और कर्मचारी निलंबित

इस बीच, खबर है कि पीएनबी ने अपने आठ और कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है। ऐसे में कुल निलंबित हुए कर्मचारियों की संख्‍या 18 हो गई है। इनमें जनरल मैनेजर स्‍तर के अधिकारी भी शामिल हैं। फिलहाल अभी भी बैंक की आतंरिक जांच जारी है।

2011 से चल रहा था घोटाला 
पीएनबी के प्रबंध निदेशक सुनील मेहता ने गुरुवार को सफाई दी। उन्होंने कहा कि घोटाले की राशि वसूलने का काम शुरू हो चुका है और आरोपी की संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया चल रही है। 2011 से यह घोटाला चल रहा था। इसके बारे में हमारी बैंक ने ही कानून लागू करने वाली एजेंसियों को बताया है।

29 जनवरी को पहली शिकायत 
पीएनबी ने इस मामले में 280 करो़ड़ रुपए के घोटाले की पहली शिकायत 29 जनवरी को सीबीआइ से की थी। सीबीआइ ने 31 जनवरी को केस दर्ज किया था, लेकिन आरोपी इससे काफी पहले ही देश से निकल चुके थे। पीएनबी ने नीरव व अन्य के खिलाफ दूसरी शिकायत 14 फरवरी को सीबीआइ से की है। इसमें 11,400 की करोड़ रुपए की धोखाध़़डी का आरोप लगाया गया है।

जितने का घोटाला, उतने की संपत्ति 
फो‌र्ब्स मैगजीन के भारतीय अमीरों की सूची में नीरव मोदी का 85 वां स्थान। 
– नीरव मोदी की कुल संपत्ति (नेटवर्थ 1.8 अरब डॉलर घोटाला 1.77 अरब डॉलर) 11,500 करो़ड़ रुपए है।
-लंदन, न्यूयॉर्क, लास वेगास, हवाई, सिंगापुर, बीजिंग समेत 16 शहरों में शोरूम। 
– उनकी ज्वेलरी का एड प्रियंका चोपड़ा, एंड्रिया डायाकोनु और रोजी हंटिंगटन करते हैं।

प्रियंका चोपड़ा का पैसा भी हड़प कर भागा
नीरव मोदी ने जानी मानी अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा को भी ठगा है। दरअसल प्रियंका ने नीरव की डायमंड कंपनी के लिए एड किया था, मगर उनकी बकाया रकम नहीं चुकाई। बताया जा रहा है कि इस मामले में प्रियंका, नीरव के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की तैयारी कर रही हैं। एड में प्रियंका के साथ सिद्धार्थ मल्‍होत्रा भी थे।

बकाया लौटाने की ‘गोलमोल’ पेशकश
पीएनबी ने गुरुवार को दावा किया कि बैंक के साथ धोखाधड़ी करने वाले नीरव मोदी ने धनराशि लौटाने की पेशकश की है। हालांकि उन्होंने इस संबंध में कोई ठोस प्रस्ताव बैंक के समक्ष नहीं रखा है। उधर रिजर्व बैंक ने इस घोटाले में फंसी राशि का बोझ पीएनबी से खुद उठाने को कहा है।

You may also like

बलात्कार मामलों में अब होगी त्वरित कार्रवाई, पुलिस को मिलेगी यह विशेष किट

देश में पुलिस थानों को बलात्कार के मामलों की जांच