रेलवे की नई पहलः मेल-एक्सप्रेस ट्रेन में होगा ‘सलून’

- in कारोबार

भारतीय रेल लगातार नए-नए प्रयास कर रही हैं जिससे यात्रियों को सुविधाजनक सफर के साथ साथ स्पेशल फैसलिटीज भी मुहैया कराई जा सकें. अब इसी कड़ी में मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में स्पेशल यात्रा के लिए सलून की व्यवस्था करेगी. यह व्यवस्था उन यात्रियों के लिए होगी जो थोड़ा ज्यादा खर्च कर पूरे आराम से अपने डेस्टिनेशन तक पहुंचने की ख्वाहिश रखते हैं.

सलून खासतौर से डिजाइन किया गया रेल कोच होता है जिसमें एक ड्राइंग रूम/डाइनिंग रूम, दो बेडरूम, दो बाथरूम, एक सेवक कक्ष और एक रसोईघर होता है. कम किराए वाली हवाई सेवाओं से कड़े मुकाबले से निपटने के लिए रेलवे अपना राजस्व बढ़ाने के लिए कई इनोवेटिव प्रयोग करने जा रही है.

वरिष्ठ अधिकारी करते हैं सलून का इस्तेमाल

सलून का इस्तेमाल आमतौर पर रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी निरीक्षण के दौरान करते हैं. मंत्री भी रेलयात्रा के दौरान सलून का उपयोग करने के लिए अधिकृत हैं.

पाकिस्तान, भारत के पुराने बंद नोटों से बना रहा नकली नोट

छह रेलयात्री आराम से कर सकते हैं सफर

एक सलून में छह रेलयात्री आराम से सफर कर सकते हैं लेकिन, इसके लिए यात्री को 18 यात्रियों के फर्स्ट क्लास के किराये के बराबर किराया देना होगा.

रेलवे ने दे दिया है सभी जोन को आदेश

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “हमने किसी भी यात्री को सलून बुक करने की अनुमति प्रदान की है. यात्रियों की मांग पर मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में यह अतिरिक्त कोच जोड़ा जाएगा जिसके लिए रेलयात्री को निर्धारित दर पर किराया चुकाना होगा.” देशभर में मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में सलून जोड़ने के लिए रेलवे ने सभी जोन को लिखित में निर्देश दिया है. हालांकि राजधानी, दुरंतो, शताब्दी और गतिमान एक्सप्रेस ट्रेनों में सलून की व्यवस्था नहीं होगी.

आरआरसीटीसी के जरिए कर सकते हैं सलून बुक

कोई भी यात्री आईआरसीटीसी के जरिए सलून बुक कर सकता है. सलून में चूंकि रसोईघर की सुविधा होती है, लिहाजा इसमें यात्री खान-पान की खुद की व्यवस्था भी कर पाएंगे. वर्तमान में मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में आमतौर पर 18 से 24 कोच होते हैं.

रेलवे को उम्मीद है कि टूरिस्ट डेस्टिनेशन के लिए सलून की मांग होगी. साथ ही ऐसे कपल भी सूलन में सफर करना पसंद करेंगे जिनकी नई शादी हुई हो. इसके अलावा लग्जरी सफर चाहने वाले यात्रियों से भी रेलवे को इन सलून कोचेज के लिए अच्छी मांग आने की उम्मीद है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अब देश का कोयला बचाएगा NTPC, बॉयोमास से तैयार की जाएगी बिजली

दुनिया भर में स्थाई ईंधन के विकल्प तलाशे