FIFA World Cup 2018: आज तय होगा मेसी और रोनाल्डो का वर्ल्ड कप में आगे का सफर

- in खेल

फीफा वर्ल्ड कप में ग्रुप स्टेज मुकाबलों के खत्म होने के बाद आज से प्री-क्वार्टर मुकाबलों की शुरुआत होगी. पहले मुकाबले में जहां दो बार की विजेता अर्जेंटीना की टक्कर फ्रांस से होगी तो वहीं दूसरे मैच में पुर्तगाल को ऊरुग्वे की चुनौती का सामना करना होगा. आज जिस टीम को जीत मिलेगी वह खिताब अपने नाम करने की ओर एक कदम आगे बढ़ जाएगी, जबकि हारने वाली टीम का वर्ल्ड कप में सफर यहीं खत्म हो जाएगा.

मेसी के सामने होगी फ्रांस की चुनौती

वर्ल्ड कप की शुरुआत से पहले अर्जेंटीना और फ्रांस दोनों को खिताब का दावेदार माना जा रहा था. हालांकि ग्रुप स्टेज में दोनों टीमों का ही प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा है. नाइजीरिया के खिलाफ ग्रुप दौर के अंतिम मैच में अर्जेंटीना को जीत चाहिए थी और मेसी ने मैच का पहला गोल कर अपनी टीम का हौसला बढ़ाया था हालांकि मार्कस रोजो ने अर्जेंटीना के लिए विजयी गोल किया था.

फ्रांस के लिए भी यह मैच किसी भी लिहाज से आसान नहीं होने वाला है क्योंकि ग्रुप दौर में उसे कोई कड़ा प्रतिद्वंद्वी नहीं मिला. अब जबकि अर्जेंटीना जैसी मजबूत टीम और मेसी जैस महान स्ट्राइकर उसके सामने है तो उसे बेहद सतर्क रहना होगा.

मलेशिया ओपन: सिंधु सेमीफाइनल में हुई बाहर…

रोनाल्डो को लेना होगा ऊरुग्वे से लोहा

वहीं दूसरे प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले में पुर्तगाल का सामना ऊरुग्वे से होगा. वर्ल्ड कप में पहली बार है, जब ये दोनों टीमें आमने-सामने हो रही हैं. वैसे कुल तीन बार ये दोनों एक-दूसरे के खिलाफ खेल चुके हैं.

पुर्तगाल के पास अभी तक विश्व कप की ट्रॉफी नहीं आई है. इस समय उसकी टीम में विश्व फुटबाल के महान खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं और उन्हीं के दम पर पुर्तगाल विश्व कप जीतने का सपना देख रही है. लेकिन सिर्फ रोनाल्डो पर निर्भर रहना उसे भारी पड़ सकता है.

वहीं अगर उरुग्वे की बात की जाए तो टीम का दोरामदार हमेशा की तरह लुइस सुआरेज और एडिन कवानी पर होगा. इन दोनों के अलावा टीम की ताकत उसका डिफेंस रहा है. उरुग्वे ने ग्रुप दौर के तीन मैचों में एक भी गोल नहीं खाया. यह बताता है कि उसकी डिफेंस कितनी सफल रही है. हालांकि ग्रुप दौर में मिस्र को छोड़कर कोई भी ऐसी टीम नहीं थी, जिसका अटैक बेहद मजबूत हो या उसके पास विश्व का दिग्गज खिलाड़ी है. मिस्र में हालांकि मोहम्मद सलाह थे जिनको उरुग्वने रोके रखा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कराटे खिलाड़ियों ने उत्तीर्ण की ब्लैक बेल्ट परीक्षा

लखनऊ। जापान सोतो कान कराटे डू कनिंजुकु ऑर्गनाइजेशन के