Home > राजनीति > जानिए मोदी सरकार की चौथी वर्षगांठ पर कर्नाटक से गिफ्ट मिलेगा या झटका?

जानिए मोदी सरकार की चौथी वर्षगांठ पर कर्नाटक से गिफ्ट मिलेगा या झटका?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार 16 मई को चार साल पूरे कर लेगी. 2014 में इसी दिन लोकसभा चुनाव के नतीजे आए थे और केंद्र में प्रचंड बहुमत के साथ बीजेपी के नेतृत्व वाला एनडीए सत्ता पर काबिज हुआ था. आज जब कर्नाटक चुनाव की तारीखें घोषित हुईं तो चुनाव आयोग ने ऐलान किया कि 15 मई को राज्य के चुनाव परिणाम घोषित किए जाएंगे. यानी केंद्र सरकार की चौथी वर्षगांठ से ठीक एक दिन पहले कर्नाटक का किंग कौन होगा, ये पता चल जाएगा.

जानिए मोदी सरकार की चौथी वर्षगांठ पर कर्नाटक से गिफ्ट मिलेगा या झटका?चुनाव कार्यक्रम से साफ है कि कर्नाटक में बीजेपी जीत का परचम लहराती है, तो पार्टी के लिए ये अपनी सरकार की चौथी वर्षगांठ पर मिला एक बड़ा तोहफा होगा. वहीं बीजेपी को हार मिलती है तो ये मोदी सरकार के चार साल के जश्न को फीका कर देगी. गौरतलब है कि हाल ही में यूपी में फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीटों पर उपचुनाव के नतीजे आए थे. ये नतीजे 11 मार्च को आए थे जबकि योगी सरकार का एक साल 13 मार्च को पूरा हुआ. बीजेपी इन दोनों सीटों पर हार गई और उसने योगी सरकार की पहली वर्षगांठ का जश्न फीका कर दिया. कर्नाटक में बीजेपी नहीं चाहेगी कि उसे यूपी जैसा झटका लगे.

कर्नाटक विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है. चुनाव आयोग के मुताबिक कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों के लिए 17 अप्रैल से 24 अप्रैल तक नामांकन पत्र भरे जाएंगे. इसके बाद 25 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी, जिसके बाद 27 अप्रैल तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे. जबकि 12 मई को वोट डाले जाएंगे और 15 मई को वोटों की गिनती होगी. इस तरह से चुनावी प्रक्रिया 18 मई तक पूरी कर ली जाएंगी.

चुनाव आयोग के मुताबिक कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे 15 मई को आएंगे. जबकि मोदी सरकार के चार साल का सफर 16 मई को पूरा हो रहा है. इस तरह मोदी सरकार के लिए कर्नाटक चुनाव के नतीजे काफी अहमियत रखते हैं. बीजेपी कर्नाटक में जीतती है तो मोदी सरकार के चौथी वर्षगांठ के जश्न के साथ-साथ 2019 के लोकसभा चुनाव का माहौल बनेगा. वहीं बीजेपी को कर्नाटक में हार मिलती है तो जश्न फीका ही नहीं पड़ेगा बल्कि विपक्ष मोदी सरकार के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिश करेगा.

वैसे कर्नाटक को लेकर कांग्रेस के आंतरिक सर्वे में सीएम सिद्धारमैया की सत्ता में वापसी हो रही है. इस सर्वे को सी फोर ने अंजाम दिया है. इसमें सिद्धारमैया सरकार को पिछली बार से भी ज्यादा सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है. सर्वे में कांग्रेस को 126 सीटें मिलने की उम्मीद की गई है, जो 2013 से 4 ज्यादा हैं.इस सर्वे में बीजेपी को 70 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है, जो पिछली बार से करीब 30 ज्यादा होंगी. वहीं, जेडीएस को केवल 27 सीटें मिलने की बात कही जा रही है. सर्वे 154 सीटों के लगभग सभी जिलों और 22,357 लोगों के बीच किया गया था.

Loading...

Check Also

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मध्यप्रदेश चुनाव: मामा से लेकर भैया, भाभी और बाबा भी चुनावी मैदान में कूदे…

वॉट्स इन ए नेम? यानी नाम में क्या रखा है। विलियम शेक्सपियर की रूमानी, लेकिन …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com