किकी चैलेंज करना पड़ा महंगा, कोर्ट ने युवकों को सुनाई रेलवे स्टेशन साफ करने की सजा…

- in महाराष्ट्र

मुंबई: सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे किकी चैलेंज को पूरा करने के लिए लोग नए-नए स्टंट कर रहे हैं. यह जान कर भी कि यह उनकी जान के लिए खतरनाक हो सकता है. लोगों के इस तरह के स्टंट के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, लेकिन रेलवे पुलिस ने एक ऐसे ही वायरल वीडियो के लिए तीन युवकों को गिरफ्तार किया है.

महाराष्ट्र के पालघर जिले में एक स्थानीय अदालत ने किकी चैलेंज का वीडियो पोस्ट करने वाले तीन लोगों को अनूठी सजा सुनाई. कोर्ट ने तीनों युवकों को वसई रेलवे स्टेशन पर लगातार तीन दिन तक सफाई करने की सजा सुनाई है. इन तीनों युवको ने चलती ट्रेन में ‘किकी चैलेंज’ पूरा किया था. श्याम शर्मा, ध्रुव और निशांत नाम के तीन युवकों ने पश्चिम रेलवे के वसई स्टेशन पर वीडियो बनाया था, जिसमें यह तीनों युवक चलती ट्रेन में ‘किकी चैलेंज’ के पूरा करते हुए दिख रहे हैं.

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो जाने के बाद रेलवे सुरक्षा बल ने तीनों युवकों को गिरफ्तार कर वसई रेलवे कोर्ट में पेश किया. रेलवे कोर्ट ने तीनों युवकों को तीन दिन तक स्थानीय रेलवे स्टेशन को साफ करने का आदेश देने के साथ-साथ उनसे रेलयात्रियों को किकी चैलेंज जैसे स्टंट से दूर रहने के बारे में जानकारी देने को भी कहा है.

अधिकारी ने बताया कि रेलवे अदालत ने आदेश दिया है कि तीनों वसई रेलवे स्टेशन के सभी प्लेटफार्म को सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक और इसके बाद दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक साफ करेंगे, साथ ही यात्रियों को किकी चैलेंज जैसे खतरनाक स्टंट के बारे में भी जागरूक करेंगे. अधिकारियों ने बताया कि इन सभी को भारतीय रेल अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है. इन धाराओं के तहत एक साल तक की जेल और 500 रुपये के जुर्माने का प्रावधान है.

गौरतलब है कि किकी चैलेंज की शुरुआत कनाडा के रैपर ड्रेक ने की थी. इस चैलेंज की शुरुआत करते हुए ड्रेक ने चलते हुए वाहन से कूदकर अपने गीत ‘इन माई फीलिंग्स’ पर डांस किया था. जिसके बाद से यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

Patanjali Advertisement Campaign

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उम्रकैद की सजा काट रहे अंडरवर्ल्ड डॉन गवली ने ‘गांधीवाद परीक्षा’ में किया टॉप

अंडरवर्ल्ड डॉन अरुण गवली ने नागपुर के सेंट्रल