त्रिपुराः पत्रकार पर जानलेवा हमला

- in अपराध

त्रिपुरा में एक पत्रकार पर तेल चोरी से जुड़े कुछ लोगों ने जानलेवा हमला कर दिया. बताया जा रहा है कि तेल चोरी घोटाले में शामिल कुछ लोगों के पत्रकार की हत्या का षडयंत्र रचा था. जिसके चलते उन पर चाकू से हमला किया गया. घायल पत्रकार की हालत स्थिर बनी हुई है.

वारदात धर्मानगर इलाके की है. अंग्रेजी दैनिक टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक बीते सोमवार की रात 30 वर्षीय टीवी पत्रकारसुमन देबनाथ धर्मानगर तेल डिपो किसी ख़बर के सिलसिले में बात करने गए थे. उन्हें एक शख्स ने फोन करके वहां बुलाया था. लेकिन जब वे वहां पहुंचे तो सिमिन और मिहिर देब नामक दो लोगों ने उन पर हमला कर दिया.

दोनों हमलावरों ने चाकू से उनका गला काटने की कोशिश भी की. इस हमले में सुमन बुरी तरह से घायल हो गए. दोनों हमलावर सुमन को लहूलुहान हालत में छोड़कर वहां से फरार हो गए. घायल पत्रकार को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उनकी हालत अब खतरे से बाहर बताई जा रही है.

पुलिस ने इस संबंध में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी. पुलिस के मुताबिक एक हमलावर मिहिर देब को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि उसका साथी सिमिन अभी पुलिस के हाथ नहीं आया है. पुलिस उसकी तलाश कर रही है.

जानकारी मुताबिक पत्रकार सुमन ने तेल चोरी में शामिल एक गिरोह का पर्दाफाश किया था. उन्होंने डिपो और टैंकर से तेल चोरी करने वाले अपराधियों के बार में विस्तार से ख़बरें दिखाई थी. अब माना जा रहा है कि सुमन पर हुए हमले के पीछे इंडियन ऑयल का स्टाफ, पुलिस और अन्य लोग भी शामिल हैं.

बताते चलें कि त्रिपुरा में पिछले साल 20 सितंबर को पत्रकार शांतनु भौमिक की भी हत्या कर दी गई थी. शांतनु आईपीएफटी और सीपीएम के बीच चल रहे टकराव की ख़बरे प्रकाशित कर रहे थे. इसी तरह पिछले साल ही 21 नवंबर को एक अन्य पत्रकार सुदीप दत्ता भौमिक का भी मर्डर कर दिया गया था. इन घटनाओं ने पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं.

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

तो इसलिए पति ने पत्नी से कह दी अपने पिता से संबंध बनाने की बात, सुनकर आ जाएंगे आंखों में आंसू

महिला का कहना है कि ससुर के साथ