सोनिया के दामाद को इनकम टैक्स का नोटिस, बीजेपी ने मांगा राहुल से जवाब

- in राष्ट्रीय

बीजेपी ने आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर बड़ा हमला बोला है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी पर उनके जीजा रॉबर्ट वाड्रा को लेकर निशाना साधा है. दरअसल इनकम टैक्स विभाग ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद और प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा को टैक्स नोटिस भेजा है. इसमें कहा गया है कि 2010 -11 में रॉबर्ट वाड्रा ने बताया था कि उनकी आमदनी 37 लाख थी वहीं अब पता चला है कि उनकी एक साल की आमदनी 43 करोड़ थी.

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि इस देश के भष्ट लोगों में भय देखने को मिल रहा है. इनमें से एक हैं रॉबर्ट वाड्रा और दूसरे हैं विजय माल्या. जिनके पास बेनामी प्रॉपर्टी थी उनके ऊपर भूकंप आ गया है. रॉबर्ट वाड्रा को आज 25 करोड़ रुपये का भुगतान देना है. इनकम टैक्स द्वारा 25.8 करोड़ रुपये का बकाया जो उन्होंने 2010 और 2011 में छुपाया था उसे देने की बात की है. राहुल गांधी और गांधी परिवार को ‘नामदार बेनामी ‘ नाम से बुलाना चाहिए.

संबित पात्रा ने कहा कि हम राहुल गांधी जी से सवाल पूछना चाहते हैं कि इतने वर्षों तक जब रॉबर्ट वाड्रा ऐसे मामलों में लिप्त थे तो यूपीए ने उनपर ध्यान क्यों नही दिया? 2008 में ब्लू बरीज़र कंपनी के डायरेक्टर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी थे उसके पश्चात प्रियंका गांधी कंपनी से निकल जाती हैं और कृष्णन श्रीवासन इसके डायरेक्टर बनते हैं. उसके बाद जो टैक्स का बकाया था वो आमदनी छुपाकर नहीं देना गैरकानूनी है.

इसके अलावा देश के बड़े डिफॉल्टर और भगोड़े विजय माल्या को लेकर भी बीजेपी ने आज राहुल गांधी पर तीखे हमले किए हैं.

कचरे से तैयार हो रही है ये नई बिल्डिंग, CPWD इसे कर रहा है तैयार…

संबित पात्रा ने कहा कि 2016 में लिखी गयी चिट्ठी में विजय माल्या बताते हैं कि मैं बैंक डिफ़ॉल्ट का ‘पोस्टर बॉय’ बन गया हूं और वो पहले खुश थे लेकिन अब दुखी हैं क्योंकि केंद्र सरकार टैक्स न देने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई कर रही है. 4 अक्टूबर 2011 में मनमोहन जी को लिखी गयी चिट्ठी में विजय माल्या ने लिखा है कि पांच सौ पचास करोड़ रुपये उन्हें मिल नही रहे थे, लेकिन एक ही बार कहने पर ही उन्हें पैसे दिलवा दिए गए. इसके अलावा 2013 में तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम को चिट्टी लिखी. इस चिट्ठी में बिना एनओसी दिए लोन देने की बात की गई है. भ्रष्ट लोगों को कांग्रेस इस तरह ट्रीट करती थी जिससे उन्होनें जी भर कर टैक्स चोरी की.

राहुल गांधी को इन सवालों के जवाब देने चाहिए कि क्यों कांग्रेस के राज में खुद उनके परिवार के लोग और उस समय के बड़े टैक्स डिफॉल्टर्स को खुली छूट दी गई. इसके अलावा राहुल गांधी ने ट्वीट कर एंडोर्स किया कि भारत की स्थिति महिलाओं के लिए सीरिया ,सऊदी से भी बदतर है. उन्होंने बिना डेटा का आधार जाने ऐसा किया है. यह ‘ग्लोबल परसेप्शन ‘ के आधार पर दिया गया बयान हैजिसका कोई आधार नही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

इमरान खान का मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- ‘भारत के अहंकारी और नकारात्‍मक जवाब से निराश हूं’

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को नरेंद्र