घर के दरवाजे पर पानी में ये डालकर छिडकते हुए बोल दे ये मंत्र रातोरात बरसेगा इतना धन की आप संभाल नहीं पाओगे…

प्रिय दोस्तों इस संसार में हर व्‍यक्ति की चाहत सिर्फ धन अर्जित करना है, जिसके लिये वह हर सम्‍भव प्रयास हमेशा ही करता रहा है! ये बात अलग है, कि उसे कभी परियाप्‍त धन मिल जाता है, तो अभी नही मिलता है! अगर किसी इंसान को जितनी आवश्‍यकता उससे कम धन मिला तो घेरलू समस्‍यायें बढ़ने लगती है! क्‍योंकि इस जीवन में बिना धन के कुछ नही मिल पाता है! मौजूदा समय की मंहगई में धन की सबसे अधिक अवश्‍यकता होती है! जिसको इकत्रित करने के लिये काफी सारा परिश्रम करना होता है! ऐसे उतार चढ़ाव जीवन में हमेशा होते रहते है!

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, पति और पत्नी एक दूसरे के पूरक होते हैं! पति की सफलता में पत्नी के भाग्य का बहुत बड़ा हाथ होता है! पत्नी द्वारा किए गए शुभ कार्य कार्यों का फल पति को मिलता है! हमारे ज्योतिष शास्त्र में कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं, जिन्हें पत्नियों के द्वारा करने से पति के जीवन की सभी समस्याएं दूर हो सकती हैं! आज हम आपको ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं! तो आइये आपको बताते है…

1. अपने घर में बरकत लाने के लिए नियमित रूप से अपने नहाने के पानी में थोड़ी सी हल्दी मिलाकर नहाएं! इससे आपके घर में बरकत आएगी!

आज के दिन भूल से भी न करे ये 5 तरह के काम, होता है अशुभ

2. यदि किसी महिला के पति के कार्यों में बाधाएं आ रही हैं! तो उसे सुबह उठने के बाद स्नान करके मां लक्ष्मी की तस्वीर के सामने एक लोटे में जल भरकर रखें! अब इसमें थोड़ी सी हल्दी मिलाएं! अब माँ लक्ष्मी की तस्वीर के सामने बैठकर मां लक्ष्मी के मंत्र ”ॐ महालक्ष्म्यै नमः” का जाप करें!

3. मां लक्ष्मी की पूजा करके इस जल को अपने घर के मुख्य द्वार पर छिड़कें! ऐसा करने से आपके घर की सकारात्मकता बढ़ती है, और आपके पति के कार्यों में आ गई सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं!

Loading...

Check Also

छठ पूजा के दौरान इस मंत्र से माँ को करें खुश, मिलेगा अपार धन

छठ पूजा के दौरान इस मंत्र से माँ को करें खुश, मिलेगा अपार धन

आप सभी को बता दें कि छठ पूजा एक ऐसा पर्व हैं जिसे सिर्फ हिंदू …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com