27 मार्च दिन मंगलवार का राशिफल: आज इन 5 राशि वालों पर बजरंगबली की रहेगी विशेष कृपा, और इनकी पूरी होगी हर मुराद

।।आज का पञ्चाङ्ग।।

आप सभी का मंगल हो 27 मार्च दिन मंगलवार

27 मार्च दिन मंगलवार का राशिफल: आज इन 5 राशि वालों पर बजरंगबली की रहेगी विशेष कृपा, और इनकी पूरी होगी हर मुराद ऋतु-बसंत
माह-चैत्र
पक्ष-शुक्ल
तिथि-एकादशी
सूर्य-उत्तरायण
सूर्योदय-05:55
सूर्यास्त-06:05
राहूकाल(अशुभसमय)शायं
03:00 से 04:30 तक
दिशाशूल-उत्तर
शुभदिशा-दक्षिण
अभिजितमुहूर्त-11:25 से12:14 तक
अमृतमुहूर्त- दोपहर 12:27 से 01:59

।।आज का राशिफल।।

मेष:-आज आप किसी के साथ वाद-विवाद में न उलझें। स्वजनों, स्नेहीजनों के व्यवहार से तकलीफ हो सकती है। आपका मानभंग होने का प्रसंग न बने इसका ध्यान रखिएगा। नए कार्य के प्रारंभ में बाधा आ सकती है। स्त्री मित्रों से हानि हो सकती है।
राशिरत्न:-मूँगा

वृष :- आज व्यवसाय में आपको कुछ अड़चनों का सामना करना पड़ सकता है व्यवहारिक क्षेत्र में अनुकूल वातावरण रहेगा। शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। सावधानीपूर्वक पूंजी निवेश करें। नए कार्यों का प्रारंभ कर सकेंगे।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल

मिथुन:- आज परिजनों और मित्रों के साथ आनंदपूर्वक समय बिताएंगे। खर्च अधिक न हो इसका ध्यान रखिएगा। आर्थिक लाभ होगा तो अवश्य परंतु मध्याह्न के बाद। पूंजी निवेश का कार्य संभलकर करें। सहकर्मियों से सहयोग प्राप्त होगा। 
राशिरत्न:-पन्ना

कर्क:-आज आय की अपेक्षा व्यय अधिक होगा। आंखो के दर्द से व्यग्रता महसूस करेंगे। मानसिक चिंता रह सकती है। वाणी और वर्तनी का ध्यान रखिएगा। आर्थिक दृष्टि से लाभ होगा। परिवार का वातावरण आनंदप्रद रहेगा। 
राशिरत्न:-मोती

सिंह:-मन में थोड़ी व्यग्रता संभव है, परिजनों के साथ उग्रतापूर्ण व्यवहार हो सकता है, मध्याह्न के बाद आपका मन स्वस्थ रहेगा। परिवारजनों के साथ खान-पान का प्रसंग होगा। शारीरिक स्वास्थ्य भी अच्छा होता हुआ दिखेगा। खर्च पर अंकुश रखिएगा। 
राशिरत्न:-माणिक्य

कन्या :-  आज प्रातःकाल आनंदप्रद और लाभप्रद रहेगा। व्यापार के क्षेत्र में लाभ होगा। सामाजिक क्षेत्र में आपकी प्रशंसा होगी। वसूली के पैसे आएंगे। परिवार में आनंद का वातावरण रहेगा, मध्याह्न के बाद परिस्थिति में आपको प्रतिकूलता दिखेगी। 
राशिरत्न:-पन्ना

तुला :-आज आपको शारीरिक और मानसिक सुख प्राप्त होगा। पदोन्नति होगी। सरकारी कार्य सरलतापूर्वक संपन्न होंगे। सामाजिक दृष्टिकोण से आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। धन के निवेश के लिए समय अनुकूल है। जीवनसाथी की ओर से लाभ होगा। 
राशिरत्न:-हीरा, ओपल

वृश्चिक:- आज आप वाद-विवाद में ना उलझें। व्यवसाय या व्यापार में परिस्थिति अनुकूल नहीं होगी। संतानों के साथ मतभेद होने की संभावना है। संतानों के लिए चिंता उपस्थित होगी। गृहस्थजीवन में आनंद बना रहेगा। सरकारी कार्य पूर्ण होंगे। व्यवसाय में पदोन्नति के योग हैं। 
राशिरत्न:-मूँगा

धनु:- आज व्यापार में क्रोध करने से हानि होने की संभावना है। शारीरिक और मानसिक अस्वस्थता से आप व्यग्र रहेंगे। संतानों के विषय में चिंता सताएगी। प्रतिस्पर्धियों और विरोधियों से सावधान रहें। महत्वपूर्ण कार्यो के विषय में निर्णय संभलकर लेना होगा।
राशिरत्न:-पुखराज

मकर:- आज आपको मान-सम्मान की प्राप्ति होगी। मध्याह्न के बाद आपको शारीरिक और मानसिक परेशानी हो सकती है। अधिक खर्च हो सकता है। स्वभाव में क्रोध की मात्रा अधिक रहेगी। परिजनों और सहकर्मियों का व्यवहार तकलीफ दे सकता है।
राशिरत्न:-नीलम

कुंभ :-आज आपको कार्य में सफलता और यश-कीर्ति मिलेगी। शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। सामाजिकरूप से मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। मित्रों और स्वजनों के साथ मध्याह्न के बाद आप मनोरंजन का कार्यक्रम बनाएंगे। 
राशिरत्न:-नीलम

मीन:-आज कला के क्षेत्र में अभिरुचि एवं मित्रों से मुलाकात होगी। छात्रों के लिए अच्छा समय है। प्रियपात्र के साथ हुई भेट आनंददायी होगी। घर में सुख-शांति का वातावरण बना रहेगा। मध्याह्न के बाद आर्थिक लाभ की संभावना है। अपूर्ण कार्य पूर्ण होंगे।
राशिरत्न:-पुखराज

।।आज के दिन का विशेष महत्व।।

1 आज बसंत ऋतु, चैत्र माह शुक्लपक्ष एकादशी तिथि है।
2 आज कामदा एकादशी व्रत सभी का है।

।।प्रेरणादाई छंद।।

लोचन अभिरामा तनु घनस्यामा निज आयुध भुज चारी।
भूषन बनमाला नयन बिसाला सोभासिंधु खरारी।।

अर्थ:-गोस्वामी तुलसीदास जी प्रभू श्री राम की छवि का वर्णन करते है कि बच्चे की आँख तो बंद होती है किंतु यहां तो प्रभू की बड़ी सुंदर आँखें हैं,साँवरा शरीर है वर्षाकालीन मेघ के समान रसीले है, प्रभू अपने चारों हाथों में आयुध लिए हुवे हैं।
राघव जी आभूषण पहिने हुवे हैं,इनके गले में बनमाला है और विशाल नेत्र प्रभू के, और शोभा के समुद्र हैं, किन्तु जो कोमल स्वभाव का होता है उसके लिये कोमल और कर्कशता को प्रभू सहन नही करते उनके लिये कठोर हैं।

।।वास्तु टिप।।

जिन घरों मे एकादशी के दिन
महाप्रसाद (चावल) बनता है, वहां स्थिर लक्ष्मी भी चलायमान हो जाती है।
एकादशी के दिन चावल,गाजर, प्याज, लहसुन का सेवन निषिद्ध है।

।।इति शुभम्।।

।।आचार्य स्वामी विवेकानन्द।।
।।सरस् श्रीरामकथा, श्रीमद्भागवत कथा व्यास व ज्योतिर्विद।।
।।श्री अयोध्याधाम।।
संपर्क सूत्र-9044741252

You may also like

घर में एक बार इस चीज को जलाने से उदय होगा आपका भाग्य

हर इंसान पैसों के लेकर परेशान रहता हैं,