कोविड-19 की स्थिति का जायजा लेने के लिएगृह मंत्री अमित शाह की आपाता बैठक, बोले- टेस्टिंग दोगुनी होगी, आईसीयू बेड भी बढ़ेंगे

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसे देखते हुए केंद्र सरकार ने आपात बैठक बुलाई थी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को राजधानी दिल्ली में कोविड-19 की स्थिति का जायजा लेने के लिए नॉर्थ ब्लॉक में एक बैठक बुलाई थी। इसमें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मौजूद रहे।

बैठक के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि दिल्ली के अंदर कोविड के बढ़ते मामलों और यहां मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर की समीक्षा के लिए आज उच्च स्तरीय बैठक की। मई 2020 में मोदी सरकार ने दिल्ली को कोरोना से बचाने के लिए दिल्ली सरकार के साथ विभिन्न कदम उठाये थे जिनके सकारात्मक नतीजे सभी को देखने को मिले थे। गृह मंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन की सुविधा वाले बिस्तरों की उपलब्धता बढ़ाने के उद्देश्य से छतरपुर के 10,000 बिस्तरों वाले कोविड सेंटर को और सशक्त किया जाएगा।

एमसीडी के कुछ चिन्हित अस्पतालों को हल्के-फुल्के लक्षण वाले कोविड रोगियों के उपचार के लिए डेडिकेटेड अस्पतालों के रूप में परिवर्तित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में अस्पतालों की क्षमता तथा अन्य मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर की उपलब्धता में वृद्धि की जानी चाहिए। इसी दिशा में मई में बनाए गए धौला कुआं स्थित डीआरडीओ के कोविड अस्पताल में 250 से 300 आईसीयू बिस्तर और शामिल किए जाएंगे, जिसे गंभीर कोविड रोगियों का वहां इलाज किया जा सके।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि दिल्ली में आरटी-पीसीआर टेस्ट में दो-गुना वृद्धि की जाएगी। दिल्ली में लैबों की क्षमता का अधिक से अधिक उपयोग करके, जहां कोविड होने का खतरा ज्यादा है, वहां स्वास्थ्य मंत्रालय तथा आईसीएमआर की मोबाइल टेस्टिंग वैनों को तैनात किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि गंभीर कोरोना मामलों में प्लाज्मा डोनेशन और प्रभावित व्यक्तियों को प्लाज्मा प्रदान किए जाने के लिए प्रोटोकॉल तैयार करने के निर्देश दिए। डॉ. वी के पॉल, निदेशक एम्स और महानिदेशक आईसीएमआर के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय समिति इसपर जल्द ही रिपोर्ट देगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मीटिंग के बाद कहा कि 20 अक्तूबर से कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। लोगों की जान बचाने के लिए सारी एजेंसियां साथ मिलकर काम करेंगी। आईसीयू बिस्तरों की कमी पूरी करने के लिए डीआरडीओ में 750 बिस्तरों का इंतजाम किया जाएगा। केंद्र सरकार आईसीयू बिस्तरों के लिए मदद करेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में टेंस्टिंग को बढ़ाकर 1 से 1.25 लाख तक किया जाएगा। मीटिंग में प्रदूषण से संबंधित कोई बात नहीं हुई।

दिल्ली में रविवार को कोरोना वायरस के 3235 संक्रमितों की पुष्टि हुई है। जबकि संक्रमण से 95 लोगों की मौत हो गई है। राजधानी में रविवार को 21098 जांच की गई हैं। इसमें 9221 आरटी-पीसीआर जांच और 11877 रैपिड एंटीजन जांच शामिल हैं। दिल्ली में अभी पॉजिटिविटी रेट 15.33 प्रतिशत है। रविवार को 7606 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। 

दिल्ली में अब तक कुल 54,49,570 जांच की गई हैं। राजधानी में अब तक कुल 4,85,405 संक्रमितों की पुष्टि हुई है। इसमें से 4,37,801 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना वायरस की वजह से अब तक कुल 7614 मरीजों की मौत हो चुकी है। दिल्ली में अभी कुल 39,990 सक्रिय मरीज हैं। इनमें से 27089 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। राजधानी में कंटेनमेंट जोन की कुल संख्या 4358  हो गई है। 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button