फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी पुलिस हिरासत से रिहा

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को वर्ष 2007 में राष्ट्रपति चुनाव अभियान में लीबिया के पूर्व तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी से धन लेने के आरोप में पूछताछ के लिए पुलिस ने हिरासत में लिया गया था. दो दिन की पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ा गया है. मंगलवार को सरकोजी (63) को नानटेरे पुलिस स्टेशन में तलब किया गया था और 2007 राष्ट्रपति चुनाव अभियान में धन मिलने के मामले ‘अनियमितता’ को लेकर पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है थी.

इस मामले में जांच अप्रैल 2013 को शुरू हुई थी,उन्होंने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों का खंडन किया है. रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में कई हफ्ते पहले सरकोजी के पूर्व सहयोगी अलेक्जेंद्र जोहरी को लंदन में गिरफ्तार किया गया था और बाद में जमानत पर छोड़ दिया गया था. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अरबी में लिखे और वर्ष 2006 में गद्दाफी के खुफिया प्रमुख मुसा कुसा द्वारा हस्ताक्षरित एक दस्तावेज में ‘सरकोजी के अभियान को समर्थन देने के लिए लगभग 5 करोड़ यूरो के बराबर धन देने के बारे में सैद्धांतिक समझौता किया गया था.’

म्यामांर के राष्ट्रपति टिन क्याव ने दिया इस्तीफा

सरकोजी के पूर्व मंत्री और करीबी सहयोगी ब्रिस होर्टेफ्यूक्स से भी मंगलवार को पूछताछ की गई थी. फ्रांस का कानून उम्मीदवार को 6300 पाउंड से ज्यादा नगदी लेने की इजाजत नहीं देता, लेकिन कहा जा रहा है कि उस चुनाव में पनामा व स्विट्जलैंड के बैंकों के माध्यम से काफी धन दिए गए. रिपोर्ट के अनुसार, पेरिस में सार्वजनिक हुए एक दस्तावेज से पता चला है कि फ्रांस के नेता और लीबिया के पूर्व तानाशाह ने एक अवैध वित्तीय सौदा किया था.

 

You may also like

नवाज और मरियम शरीफ को कोर्ट से मिली बड़ी राहत, सजा पर लगाई रोक

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बड़ी राहत मिली