खजाने के लिए पिता ने नाबालिग बेटे की दे दी बलि

- in अपराध

राजस्थान के भरतपुर में एक पिता ने अपने ही नाबालिग बेटे को मौत के घाट उतार दिया। इस हत्या के पीछे का कारण बेहद ही चौंकाने वाला है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी का कहना है कि उसने अपने 16 वर्षीय बेटे की हत्या इसलिए की, क्योंकि उसने अपनी कजिन के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की थी। उसने बताया कि उसके बेटे ने पहले भी ऐसा करने की कोशिश की थी। पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। 

हालांकि इस हत्याकांड में एक दूसरा पहलू भी निकलकर सामने आ रहा है। गांव वालों का कहना है कि मृतक के पिता इंद्रजीत जाटव और दादा भूरी सिंह ने जमीन में गड़े खजाने को पाने के लिए 16 वर्षीय राजवीर सिंह की बलि दे दी। गांव वालों का आरोप है कि मृतक के पिता और उसके दादा दोनों हमेशा ही तंत्र-मंत्र में डूबे रहते थे। उनके अंदर अंधविश्वास इस कदर घर कर गया था कि उन्होंने जमीन में गड़े खजाने को पाने के लिए अपने ही बेटे की बलि चढ़ा दी। उसके बाद दोनों ने अपने जुर्म को छिपाने के लिए शव को जला दिया। 

महाराष्ट्र: बच्चा चोर गैंग बताकर 5 लोगों की पीट-पीटकर मार डाला, 23 गिरफ्तार

यह घटना 28 जून की है। दरअसल, भरतपुर के वैर कस्बे के एक गांव में ग्रामीणों ने एक 16 वर्षीय लड़के का अधजला शव देखा। उसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को फोन कर इसकी जानकारी दी। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया और उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। फिलहाल गिरफ्तार किए गए मृतक के पिता से पूछताछ की जा रही है। हालांकि आरोपी ने इस हत्या के लिए खुद को ही जिम्मेदार माना है। लेकिन पुलिस तंत्र-मंत्र और बलि दिए जाने के एंगल से भी जांच कर रही है। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बेटी के पति पर आया सास का दिल, फिर उसके बच्चे की मां बनने के लिए कर डाला ये सब…

मप्र में जनसुनवाई के दौरान रिश्तों को कलंकित