रेप केस में पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच ऑफिस पहुंचे दाती महाराज

- in दिल्ली

अपनी ही शिष्या से रेप केस में फंसे दाती महाराज पूछताछ में शामिल होने के लिए मंगलवार को क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचे. क्राइम ब्रांच की टीम आज तीसरी बार दाती महाराज से पूछताछ करेगी. इससे पहले क्राइम ब्रांच ने सोमवार को दाती महाराज के आश्रम से जुड़े तीन व्यक्तियों- नवीन गुप्ता, सचिन जैन और शक्ति से पूछताछ की थी. दाती महाराज ने पिछली बार पूछताछ के दौरान तीनों का नाम लिया था.रेप केस में पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच ऑफिस पहुंचे दाती महाराज

दाती महाराज ने आरोप लगाया है कि यह मामला सचिन, अभिषेक और नवीन के बीच आर्थिक लेन-देन का है. इन सब ने मिलकर साजिश रची है. इस साजिश में लड़की उसके पिता और यह तमाम लोग शामिल हैं. हालांकि दाती महाराज का कहना है कि उन्हें तीनों के बीच पैसों के लेनदेन की पहले से कोई जानकारी नहीं थी.

दाती महाराज के आश्रम में भारी फर्जीवाड़ा

इस बीच दाती महाराज के राजस्थान के पाली स्थित आश्रम में भारी गड़बड़ियां सामने आई हैं. आश्रम में स्थित बोर्डिंग स्कूल-कॉलेजों की जांच करने पहुंची राज्य महिला आयोग की टीम के मुताबिक, आश्रम में चल रहे बोर्डिंग स्कूल और कॉलेजों में किसी भी नियम का पालन नहीं किया जा रहा. दाती महाराज के आश्रम में चल रहे स्कूल-कॉलेजों में बरती जा रही अनियमितता को लेकर राज्य महिला आयोग ने जिला कलेक्टर को नोटिस जारी कर जवाब भी मांगा है.

महिला आयोग का कहना है कि आश्रम में चल रहे स्कूल और कॉलेजों के पंजीकरण का नवीनीकरण पिछले तीन साल से नहीं कराया गया है. इतना ही नहीं स्कूल और कॉलेज के लिए बने छात्रावासों में रह रहीं छात्राओं के बारे में इस तरह का कोई रिकॉर्ड नहीं है कि वे कहां से ताल्लुक रखती हैं.

हो सकता है दाती महाराज का पोटेंसी टेस्ट

इससे पहले क्राइम ब्रांच ने कहा था कि दिल्ली और पाली स्थित दाती महाराज के आश्रमों की खोजबीन के दौरान दाती के खिलाफ अहम सबूत मिले हैं. साथ ही क्राइम ब्रांच ने कहा था कि अब वह दाती महाराज का पोटेंसी टेस्ट भी करवा सकती है.

पीड़िता ने दाती पर लगाए और गंभीर आरोप

इस बीच पीड़िता ने भी दाती महाराज का कच्चा चिट्ठा खोलने का दावा करते हुए कहा था कि दाती महाराज ने उसके साथ ही नहीं, बल्कि आश्रम में रह रही कई और लड़कियों के साथ रेप किए हैं. इतना ही नहीं ऐसी बातें भी सामने आ रही हैं कि दाती महाराज आश्रम में रह रही अपनी शिष्याओं को चरण सेवा के नाम पर पेशाब पीने का दबाव बनाता था.

पीड़िता का कहना है कि दाती महाराज के अत्याचारों से तंग आकर कई शिष्याएं आश्रम छोड़कर भाग चुकी हैं. पुलिस अब इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही है कि दाती महाराज के आश्रम से कब और कितनी शिष्याएं भागीं और क्यों भागीं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आप की रणनीति: दावेदारी 100 सीटों पर, 25 जीतने के लिए लगाएंगे जोर

आम आदमी पार्टी (आप) लोकसभा चुनावों में बेशक