सीआईडी कर रही हैं सौ से ज्यादा फर्जी कंपनियों की पड़ताल

- in अपराध
प्रदेश के बहुचर्चित टेक्नोमैक घोटाले की जांच में जुटी सीआईडी अब अपनी जांच का दायरा बढ़ाने जा रही है। घोटाले की अब तक की जांच में करीब सौ ऐसी कंपनियों का ब्यौरा सामने आया है जिनके जरिये पैसे का लेन देन दिखाया गया है।

 

ऐसे में अब जांच टीम इन कंपनियों से संपर्क कर इनके अधिकारियों से पूछताछ करने की तैयारी में है। इसके लिए सीआईडी के डीआईजी ने डीजीपी को पत्र लिखकर करीब पचास पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों की एक टीम उपलब्ध कराने को पत्र लिखा हैैै।

इस टीम की मदद से सभी कंपनियों की भौतिक जांच व अधिकारियों से बातचीत के बाद जांच की आगे की दिशा तय होनी है। दरअसल, सीआईडी को अब तक की जांच के दौरान बड़ी संख्या में ऐसे बिल मिले हैं जो देश के विभिन्न हिस्सों में स्थित कंपनियों के बताए जा रहे हैं।

शुरूआती जांच में यह बात सामने आई है कि यह सभी बिल जिन कंपनियों के नाम से जारी हुए हैं उन कंपनियों का कहीं वजूद नजर नहीं आ रहा। फर्जी कंपनियों के नाम पर बिल बनाकर बड़े आर्डर व बड़े लेन देन दिखाए गए।

UP: 50 हजार का इनामी नक्सली गिरफ्तार

चूंकि बिल में दर्ज कुछ कंपनियों के नंबर तक गलत हैं, ऐसे में अब सीआइडी टीमें बनाकर अलग-अलग हिस्सों में भेजकर कंपनी दफ्तरों का भौतिक सत्यापन करने जा रही है।

जांच का पर्यवेक्षण कर रहे डीआईजी सीआईडी विनोद कुमार धवन ने डीजीपी सीताराम मरडी को पत्र लिखकर अधिकारियों और कर्मचारियों की मांग की है। धवन ने बताया कि चूंकि देशभर के कई हिस्सों में जांच होनी है, ऐसे में टीमों की मदद से जांच तेजी से की जा सकेगी।

 

You may also like

हर दिन बॉयफ्रेंड को भेजती थी रूममेट्स की NUDE तस्वीरें, फिर एक दिन..

दुनियाभर में अपराध के मामले बढ़ते जा रहे