मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को IIT कानपुर द्वारा निर्मित साइंटिफिक बस का उद्घाटन किया. यह साइंटिफिक बस गांवों और दूर-दराज के बच्चों तक विज्ञान की पहुंच सहज बनाएगी. सीएम योगी ने राजधानी लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर फीता काटकर विज्ञान बस का निरीक्षण और शुभारंभ किया. बस के उद्घाटन के दौरान आईआईटी कानपुर के कई प्रोफेसर भी उपस्थित रहे.

साइंटिफिक बस के जरिए बच्चों को विज्ञान के प्रति करेंगे जागरूक

बस का अवलोकन करते समय सीएम योगी काफी उत्साहित नजर आए उन्होंने साइंटिफिक बस के अंदर लगे वैज्ञानिक उपकरणों की आईआईटी के प्रोफेसर्स से जानकारी भी ली. साथ ही इस विज्ञान बस की सेवा को गांव-गांव तक पहुंचाने के लिए निर्देश भी दिए. इस बस की खासियत ये है कि इसमें बाहर ही रसायन विज्ञान के तत्वों की आवर्त सारणी, वैज्ञानिकों की फोटो, परमाणु, अणु, प्रयोगों के चित्र भी प्रिंट किए गए हैं. बच्चों को साइंटिफिक बस की तरफ आकर्षित करने के लिए अच्छे से रंग-रोगन भी किया गया है.

सीएम योगी ने साइंटिफिक बस का अवलोकन किया

उद्घाटन के दौरान सीएम योगी ने कहा कि विज्ञान एक बहुत बड़ी भूमिका का निर्वहन कर सकता है. विज्ञान के लिए बच्चों में जागरूकता पैदा करना बहुतआवश्यक है. सीएम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत सारी ऐसी जगहें हैं जहां विज्ञान की शिक्षा का अभाव है. बहुत से विद्यालय ऐसे होते हैं, जिनके पास अपनी लैब नहीं होती. उन विद्यालयों में अगर इस प्रकार की बसें जाती हैं तो उन स्कूलों के बच्चों को विज्ञान के बारे में और विज्ञान के सरल प्रयोगों के बारे में जानकारी प्राप्त होगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्रह्मांड के रहस्य, भौतिक, केमिस्ट्री से जुड़े हुए छोटे-छोटे प्रयोग की जानकारी बच्चों को मिलेगी. उन्होंने कहा कि बच्चों के भविष्य में विज्ञान अहम रोल निभाता है.

छोटी जाति के कारण उनकी नहीं सुनते अफसर: कैबिनेट मंत्री राजभर

इसके अतरिक्त मुख्यमंत्री योगी ने लखनऊ के इंदिरा नगर क्षेत्र की पुरवा धवन (पर्वतारोही) से भी मुलाकात की. पर्वतारोही को तिरंगा प्रदान करते हुए सीएम योगी ने कहा कि हमारा उद्देश्य ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ है. इसके तहत हम बेटियों को आगे बढ़ाने में संपूर्ण योगदान देंगे. पुरवा धवन सरकार के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान को आगे बढ़ाने का काम कर रहीं हैं. वो इस अभियान की प्रदेश सरकार की एम्बेसडर भी हैं.