CBSE पेपर लीक: कांग्रेस ने मांगा शिक्षा मंत्री का इस्तीफा

- in राष्ट्रीय

सीबीएसई पेपर लीक मामले विपक्ष के हमले के बीच केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दुख जताया. कांग्रेस ने प्रकाश जावड़ेकर के इस्तीफे की मांग की है तो उन्होंने इस मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि वो पेपर लीक से दुखी हैं. सीबीएसई के 28 लाख छात्रों से अपनी हमदर्दी जताते हुए प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, “मैं पैरेंट्स और स्टूडेंट्स का दर्द समझ सकता हूं.”

 

दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात करते हुए जावड़ेकर कहते हैं, “इस घटना के बाद मैं सो नहीं सका. दोषी बख्शे नहीं जाएंगे. जल्द से जल्द सभी आरोपियों की गिरफ्तारी होगी.” उन्होंने कहा, “जावड़ेकर ने आगे कहा, सोलह लाख छात्रों की पीड़ा मैं समझता हूँ. जिन गुनहगारों ने पेपर लीक किया है उन्हें छोड़ेंगे नहीं. हमने प्रण किया है कि इसमें हम इसके तह तक जाएँगे. इसकी सेंसेशनलिजम को न बढ़ाते हुए इससे निपटने में मदद करें.”

पेपर लीक पर वाड्रा ने फेसबुक पोस्ट के जरिए सरकार से पूछे ये सवाल

कांग्रेस का हमला

कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने शिक्षा मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के इस्तीफे की मांग की है. उधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेपर लीक पर सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कड़ा प्रहार किया. कांग्रेस अध्यक्ष ने मोदी सरकार के दौर में ताबड़तोड़ लीक का जिक्र करते हुए उन्हें वीक बताया. उन्होंने ट्विट कर कहा, “डेटा लीक! आधार लीक! SSC Exam लीक! Election Date लीक! CBSE पेपर्स लीक! हर चीज में लीक है, चौकीदार वीक है.”

अजय माकन का हमला

 

इसके साथ ही दिल्ली कांग्रेस प्रमुख अजय माकन ने भी केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है. माकन ने पेपर लीक के लिए साफ तौर पर बोर्ड के साथ-साथ मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. प्रकाश जावड़ेकर की तरह खुद को पैरेंट्स बताते हुए माकन ने कहा कि इस बार उनके बेटे ने भी परीक्षा दी है और उन्हें इस दर्द का एहसास है. इस लीक की वजह से उनके बेटे की टेंशन बढ़ गई है. उनका तर्क है कि उनके बेटे को लगा था कि अब उनकी टेंशन खत्म हो गई है, लेकिन दोबारा परीक्षा से वो भी परेशान है.

 

आपको बता दें कि सीबीएसई पेपर लीक मामले में सीबीआई ने 13 दिन इस काम में लगा दिए कि पेपर लीक हुआ है या नहीं. फिर जाकर मंगलवार शाम को ये कबूल किया कि पेपर लीक हुआ है. अब तक दिल्ली पुलिस ने दो मामले दर्ज किए हैं. पहला मामला मंगलवार शाम को दर्ज हुआ था, जिसमें सीबीएसई की 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र विषय के प्रश्न-पत्र लीक होने का मामला था. बुधवार को दर्ज दूसरे मामले में 10वीं के गणित विषय के प्रश्न-पत्र लीक का मामला था.

 

12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा 26 मार्च को, जबकि 10वीं की गणित की परीक्षा बुधवार को हुई थी. सीबीएसई ने दोनों प्रश्न-पत्रों की परीक्षा दोबारा कराने का निर्णय लिया है. इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपनी नाराज़गी जताई है.

 

You may also like

बलात्कार मामलों में अब होगी त्वरित कार्रवाई, पुलिस को मिलेगी यह विशेष किट

देश में पुलिस थानों को बलात्कार के मामलों की जांच