पेपर लीक पर वाड्रा ने फेसबुक पोस्ट के जरिए सरकार से पूछे ये सवाल

- in राष्ट्रीय

CBSE बोर्ड के इकोनॉमिक्स और मैथ्स के पेपर लीक मामले को लेकर रॉबर्ट वाड्रा ने फेसबुक पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए पोस्ट लिखा है.पोस्ट के जरिए रॉबर्ट वाड्रा ने सवाल खड़े करते हुए पूछा है कि आखिर इस घटना की जिम्मेदारी कौन लेगा? जिस वजह से लाखों छात्रों का भविष्य दांव पर लगा हुआ है. वहीं उन्होंने कहा कि हर एक छात्र को इस बात को जानने का पूरा अधिकार है…

पेपर लीक पर वाड्रा ने फेसबुक पोस्ट के जरिए सरकार से पूछे ये सवालजानें क्या लिखा है पोस्ट में ..

रॉबर्ट वाड्रा ने लिखा “‘दो बच्चों के पिता होने के नाते जिन्होंने बोर्ड परीक्षा में हिस्सा लिया था मैं यह जानना चाहता हूं कि क्या सीबीएसई और सरकार इस बात का एहसास है कि परीक्षा के दौरान छात्रों और उनके मां बाप को कितनी परेशानी और दबाव का सामना करना होता है. उनकी इस गलती का खामियाजा लाखों छात्र क्यों भुगत रहे हैं. पेपर लीक हो जाने के बाद दोबारा परीक्षा करवाना इस समस्या का हल नहीं है”.

उन्होंने आगे लिखा ‘मेरे दोनो बच्चों ने भी इस बोर्ड की परीक्षा में हिस्सा लिया था इसलिए मैं उन लाखों मां-बाप और बच्चों का दर्द समझ सकता हूं. मैं उन सभी से सहानुभूति रखता हूं जो सीबीएसई पेपर लीक की वजह से तनाव झेल रहे हैं”.

वहीं “दोबारा परीक्षा कराए जाने के फैसले पर आपत्ति व्यक्त करते हुए रॉबर्ट ने लिखा, ‘फिर से परीक्षा कराना अच्छा ऑप्शन नहीं है. क्योंकि दोबारा तैयारी करने में बच्चों को काफी तनाव होता है और वो अपना बेस्ट नहीं दे पाते हैं. इतना हीं नहीं जो मां-बाप गरीब है उनके लिए फिर से परीक्षा केंद्रों में फिर से यात्रा करना दिक्कत पैदा कर सकता है. मैं उनकी परेशानियों को समझ सकता हूं. उन्होंने आगे लिखा सीबीएसई पेपर लीक होने के पीछे कौन जिम्मेदार होगा? लाखों छात्र जानना चाहते हैं”.

As a parent of two students appearing in board exams, I can empathise with lakhs of hard working students & parents who…

Gepostet von Robert Vadra am Mittwoch, 28. März 2018

आपको बता दें, 12वीं इकनॉमिक्स का एग्जाम 27 मार्च और 10वीं गणित की एग्जाम 28 मार्च को हुआ था. जिसके बाद व्हाट्सऐप पर पेपर लीक होने की खबर आई थी.पेपर लीक होने के बाद केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने तुरंत फैसला लिया. जहां सीबीएसई कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं के एक-एक पेपर को दोबारा करवाने की घोषणा की है.

वहीं सूत्रों का अनुसार मैथ-इकोनॉमिक्स की दोबार होने वाली परीक्षाओं की तारीख का ऐलान कर दिया गया है. जहां 10वीं कक्षा का मैथ का एग्जाम 26 अप्रैल और 12वीं कक्षा का इकोनॉमिक्स का एग्जाम 24 अप्रैल को आयोजित किया जाएगा. फिलहाल अभी आधिकारिक तौर पर कोई घोषणा नहीं हुई है. बता दें, 10वीं 12वीं की बोर्ड की परीक्षा इस साल करीब 2,824,696 बच्चे दे रहे हैं. पेपर लीक होने के बाद करीब 19 लाख बच्चे री-एग्जाम देंगे.

अकाउंट्स के पेपर लीक की भी आई थी खबर

इकोनॉमिक्स और मैथ के पेपर से पहले अकाउंट्स के पेपर लीक होने की खबरें आई थीं, जिसके बाद सीबीएसई ने आधिकारिक नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा था कि पेपर लीक की खबर गलत है. साथ ही बोर्ड ने एफआईआर करवाने का फैसला भी लिया था. गौरतलब है कि सीबीएसई 5 मार्च से बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन कर रहा है और इस बार परीक्षा में लाखों उम्मीदवार भाग ले रहे हैं.

You may also like

सुप्रीम कोर्ट: मोबाइल-बैंक खातों से आधार जोड़ना गलत, सरकार ने नहीं की तैयारी

आधार कार्ड की अनिवार्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट के पांच