कर्नाटक: बीजेपी ने 104 MLA को प्रमाण पत्र के साथ ऑफिस बुलाया

कर्नाटक चुनाव खत्म हो चुके हैं, लेकिन वहां जारी राजनीतिक घटनाक्रम में तेजी से उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है. शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने बहुमत साबित करने के लिए राज्यपाल की ओर से दिए गए 15 दिन की मोहलत को घटाकर शनिवार तक का समय दे दिया. ऐसे में कई मामलों में शुक्रवार का दिन बेहद खास रहा.

-बीजेपी ने बेंगलुरु में अपने सभी 104 विधायकों को पार्टी दफ्तर बुलाया. शाम 7 बजे तक अपने जीत के प्रमाण पत्र के साथ आने को कहा गया है.

-कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद भी हैदराबाद पहुंचे. आगे की रणनीति पर होगी चर्चा. विधायकों को बंगलुरु लाने के लिए सड़क परिवहन या फिर हवाई सेवा के इस्तेमाल पर लिया जाएगा फैसला.

बेटे को जन्मदिन पर गिफ्ट देने के लिए पिता ने किया ये कारनामा

-कांग्रेस के नेता सिद्धारमैया विधायकों से मिलने हैदराबाद पहुंचे. कांग्रेस ने अपने विधायकों को बंगलुरु से निकालकर हैदराबाद रखा हुआ है.

-कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने शनिवार सुबह 11 बजे विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया.

-पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह चंडीगढ़ स्थित राजभवन पहुंचे. मुख्यमंत्री के साथ कुछ मंत्री और कांग्रेसी नेता कर्नाटकके राज्यपाल के खिलाफ पंजाब के राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन देने राजभवन गए.

-राज्यपाल की ओर से प्रोटेम स्पीकर चुने जाने के फैसले के खिलाफ जेडीएस सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में. प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति को लेकर कोई तय नियम नहीं है.

-प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति पर कांग्रेस ने सवाल उठाए. कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि उन्हें बोपैया प्रोटेम स्पीकर के रूप में स्वीकार्य नहीं होंगे. हम इस पर शीध्र कोई एक्शन लेंगे. हमारे पास सभी विकल्प खुले हुए हैं.

-राज्यपाल नवगठित विधानसभा के संचालन के लिए अस्थायी (प्रोटेम) स्पीकर के लिए बीजेपी के विधायक केजी बोपैया को चुना और शपथ भी दिला दी.

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

न्याय न मिलने पर रेप पीड़िता ने SSP ऑफिस पहुंचकर किया ऐसा काम…

डायल-100 पर ही रिपोर्ट दर्ज करने का दावा