भाजपा के बागी सांसद सैनी का मोखरा में ग्रामीणों से टकराव, गांव में नहीं घुस पाए

- in राज्य, हरियाणा

रोहतक। भाजपा के बागी सांसद राजकुमार सैनी का जिले के माेखरा गांव मेंं आयोजित होने वाला कार्यक्रम रद हो गया है। सैनी का गांव की आेर जाने के दौरान ग्रमीणों से टकराव हो गयाा। इससे वहां तनाव पैदा हो गया। मोखरा के ग्रामीण और सैनी के समर्थक एक-दूसरे के ख्रिलाफ नारेबाजी करते रहे। पुलिस ने सैनी के काफिले को गांव की आेर जाने से रोक दिया। इस पर सैनी सड़क पर धरना देकर बैठ गए। कई घंटे की रस्‍साकसी के बाद सैनी वापस लौट गए।भाजपा के बागी सांसद सैनी का मोखरा में ग्रामीणों से टकराव, गांव में नहीं घुस पाए

अखिल भारतीय जाट आरक्षण स‍मिति ने सैनी का कार्यक्रम न होने देने की बात कही थी। समिति का कहना हे कि सैनी सामाजिक भाईचारे को खतम करने का प्रयास कर रहे हैं। सैनी के गांव में कार्यक्रम करने के एेलान और ग्रामीणाें द्वारा इसका विरोध करने के मद्देनजर पुलिस ने भारी सुरक्षा कर रखी थी। मोखरा और आसपास के क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। काफी संख्‍या में महिला पुलिसकर्मी भी तैनात थे। पु‍लिस ने मोखरा गांव से पहले ही कलानौर-मोखरा रोड पर बैरिकेट्स लगाकर रास्‍ता रोक रखा था।

मोखरा में सैनी समर्थकों ने उनका सम्‍मान समारोह अायोजित करने की घोषणा कर रखी थी। इसका मोखरा के जाट समुदाय के लोगों ने विरोध किया था अौर कार्यक्रम नहीं होने देने का ऐलान किया था। इससे तनाव का माहौल बन गया था। इसके बाद से गांव और अासपास के क्षेत्र में सुबह से ही भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया था।

राजकुमार सैनी शाम करीब साढ़े चार बजे मोखरा गांव से ठीक पहले भाली आनंदपुर के समीप पहुंचे तो वहां भारी संख्‍या में ग्रामीण मौजूद थे। सांसद के अपने काफिल के साथ पहुंचते ही ग्रामीणाें ने उनके खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। जवाब में सैनी के समर्थक भी नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने भाली आनंदपुर में ही राजकुमार सैनी को रोक दिया। पुलिस ने वहां बैरिकेट्स लगा रखे थे।

दोनों पक्षों के अामने-सामने अाने से हालत बिगड़ने लगे तो प्रशासन व पुलिस के हाथ-पैर फूल गए। इसके बाद  अतिरिक्त फोर्स बुलाई गई। पुलिस द्वारा आगे नहीं बढ़ने देने पर सैनी वहीं सड़क पर धरना देकर बैठ गए। उन्होंने वहां मौजूद अपने समर्थकों और पत्रकारों को संबोधित करना शुरू कर दिया। इस दौरान दोनों ओर से नारेबाजी होती रही। एक तरफ सांसद के समर्थक उनके पक्ष में नारेबाजी कर रहे थे और दूसरी तरफ ग्रामीण जाट एकता जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे।

सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि सरकार एक सांसद को तो बैरिकेड लगाकर रोक रही है, लेकिन उन लोगों के खिलाफ क्या करवाई की, जो यहां दादागिरी कर रहे हैं। सैनी ने कहा कि उनका विरोध इसलिए करवाया जा रहा है कि सरकार और कुछ नेताओं को अपनी पोल खुलने का डर है। हरियाणा में अब तक की सरकारों ने लोगों के साथ भेदभाव किया है और वह इसी को खत्‍म करना चाहते हैं। वह किसी समुदाय या जाति के खिलाफ नहीं हैं, फिर भी उनके कार्यक्रमों का कुछ संगठनों के इशारे और बहकावे के कारण विरोध किया जा रहा है।

बाद में देर शाम मोखरा गांव के ग्रामीणों की संख्या बढ़ने लगी अौर उनका विरोध उग्र होने लगा तो सांसद सैनी अपने काफिले के साथ वापस लौट गए। इसके बाद पुलिस और प्रशासन ने राहत की सांस ली। सैनी ने कहा कि वह किसी विरोध के डर से चुप नहीं रहनेवाले। बताया जाता है किे सैनी आज मोखरा के कार्यक्रम में अपनी नई पार्टी का ऐलान करनेवाले थे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तराखंड के क्रिकेट एसोसिएशनके सचिव पीसी वर्मा की हालत नाजुक, हुए आइसीयू में भर्ती

देहरादून: क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के सचिव पीसी वर्मा