एशिया-प्रशांत क्षेत्र रहा है आर्थिक विकास का केंद्र

- in कारोबार

नई दिल्ली । एशियन डवलपमेंट बैंक (एडीबी) के प्रेसिडेंट ताकेहीको नकाओ ने कहा है कि दुनिया कीआर्थिक गतिविधियों का मुख्य केंद्र एशिया-प्रशांत क्षेत्र में शिफ्ट हो रहा है। एशिया और ऑस्ट्रेलिया में फैले इस क्षेत्र में भारत, चीन और रूस समेत तमाम देश तेजी से विकास कर रहे हैं। ऐसे में एडीबी को एशिया में बदलाव की जरूरतों को पूरा करने के लिए अपनी रणनीति बदलनी होगी।

एशियन डवलपमेंट बैंक की 51वीं वार्षिक बैठक के उद्घाटन सत्र में नकाओ ने कहा कि एडीबी के सभी सदस्य विकासशील देश आगे निकलकर मध्यम आय वर्ग में आ गए हैं। इसके बावजूद कई चुनौतियां बरकरार हैं। नई चुनौतियां भी सामने आ रहे हैं। इन देशों में लगातार गरीबी बनी हुई है। हमें बढ़ती असमानता, पर्यावरण और तेज शहरीकरण की चुनौतियों से निपटना होगा।

कुछ देशों में उम्रदराज होती आबादी और दूसरे देशों में युवाओं की तेजी से बढ़ती संख्या अवसर और चुनौतियां एक साथ प्रदान कर रही है। एडीबी प्रमुख ने कहा कि स्ट्रैटजी 2030 नाम से दीर्घकालिक योजना विकसित की जा रही है। इसमें गरीबी उन्मूलन, समावेशी विकास पर खास जोर होगा। यह योजना जल्दी ही तैयार हो जाएगी। एडीबी विभिन्न विकासशील देशों के लिए उनकी जरूरत के अनुरूप अलग-अलग नीति अपनाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मारूति की कारों का जलवा बरकरार, ये लो बजट कार रही नंबर वन

भारतीय कार बाजार में मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई)