28 बार अंतिम गेंद पर छक्का लगा चुका है ये एक मात्र भारतीय बल्लेबाज, नाम जानकर उछल पड़ेंगे आप..

- in खेल

महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट जगत का एक जाना माना नाम है . जिसने अपनी मेहनत और काबिलियत के दम पर अपनी पहचान बनाई है . धोनी इकलौते ऐसे कप्तान रहे हैं, जिन्होंने अपनी कप्तानी में आईसीसी की सभी बड़ी ट्रॉफ़ी पर कब्ज़ा जमाया है . महेंद्र सिंह धोनी मौजूदा भारतीय टीम के सबसे सीनियर खिलाड़ियों में से एक हैं . इसके बावजूद 36 साल के धोनी आज भी दुनिया के सबसे फिट क्रिकेटरों में से एक हैं .

दरअसल धोनी एक बेहतरीन बल्लेबाज तो है ही साथ ही वे एक शानदार फिनिशर भी है और अगर बात करे उनकी विकेटकीपिंग की तो उसकी तारीफ तो क्रिकेट के बड़े बड़े दिग्गज करते ही रहते है . इसी कारण धोनी की गिनती दुनिया के बेस्ट विकेटकीपरो में की जाती है . इसके साथ ही वह टीम को मुश्किल परिस्थिति से निकाल लाने की क्षमता भी रखते है .

भारतीय क्रिकेट जगत के इतिहास में महेंद्र सिंह धोनी सबसे सफल कप्तान माने जाते है. धोनी ने भले ही वर्तमान समय में कप्तानी छोड़ दी हो लेकिन आज भी जब महेंद्र सिंह धोनी का रुतबा वैसे ही है. धोनी अपने कैरेअर की शुरूवात में एक विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में जाने जाते थे. लेकिन धीरे धीरे धोनी की छबी शांत चित लोगों म होने लगी आज के समय में टीम इंडिया में धोनी से ज्यादा शांत चित कोई भी खिलाडी नहीं है कहा जाता है की धोनी विपरीत परिस्थितियों में भी कभी अपना मानसिक संतुलन नहीं खोते हैं धोनी के सफलता के पीछे धोनी का स्वाभाव बड़ा हाथ है. वैसे तो धोनी के नाम बहुत सारे रिकॉर्ड है लेकिन आज हम आज आप को उनके एक अनोखे रिकॉर्ड के बारे में बता रहे है.

गब्बर ने किया खुलासा, टीम इंडिया के ये 3 खिलाड़ी हैं उनके बेस्ट फ्रेंड

धोनी भारत के एक सबसे अच्छे फिनिसर इस लिए अक्सर मैच को अंत तक वही ले जाते है. न सिर्फ मैच को अंत तक ले जाते है बल्कि कई बार मैच को छक्के से ख़त्म करते है. इस लिए धोनी के नाम ये रिकॉर्ड है कि उन्होंने 28 बार अंतिम गेंद पर छक्का लगया है. जिसमें वनडे में 12 बार , टी20 में 7 बार और आईपीएल में 9 बार अंतिम गेंद पर छक्का लगाया जा सकता है.

You may also like

Asia Cup : रोहित-धवन की बदौलत भारत ने पाक को दी करारी शिकस्त

नई दिल्लीः पाकिस्तान को महज 162 रनों पर सिमेटकर