CWG 2018: निशानेबाजी में 15 वर्षीय अनीष भानवाल ने भी जीता सोना

- in खेल

भारत के किशोर निशानेबाज अनीष भानवाल ने यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में नौवें दिन शुक्रवार को पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया है. अनीष ने राष्ट्रमंडल खेलों में पदार्पण के साथ ही स्वर्ण पदक जीता और साथ ही इन खेलों का नया रिकॉर्ड भी बनाया है. उन्होंने भारत की झोली में 16वां स्वर्ण पदक डाला.

भारत के 15 वर्षीय निशानेबाज अनीष ने फाइनल में कुल 30 अंक हासिल करते हुए सोना जीता. उन्होंने 2014 में ग्लाग्सो में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में आस्ट्रेलिया के डेविड चापमान की ओर से बनाए रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

इस स्पर्धा में नीरज कुमार को निराशा हाथ लीग. उन्हें पांचवां स्थान हासिल किया.

स्टार निशानेबाज तेजस्विनी सावंत ने राष्ट्रमंडल खेलों में महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन में खेलों का नया रिकार्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक जीता जबकि अंजुम मुद्गल को रजत पदक मिला. भारतीय निशानेबाजों ने बेलमोंट निशानेबाजी रेंज पर सोना बंटोरने का सिलसिला कायम रखते हुए इस वर्ग में पहला और दूसरा स्थान हासिल किया . सैतीस बरस की तेजस्विनी ने राष्ट्रमंडल खेलों का रिकार्ड बनाते हुए फाइनल में 457 . 9 स्कोर किया जबकि मुद्गल का स्कोर 455 . 7 रहा .

CWG 2018: सीरिंज का इस्तेमाल करने पर भारत लौटे दो भारतीय एथलीट!

स्काटलैंड का सियोनेड मैकिनटोष को कांस्य पदक मिला . तेजस्विनी का यह सातवां राष्ट्रमंडल पदक है जिसने 2006 में दो स्वर्ण जीते थे . इससे पहले 2010 में दो रजत और एक कांस्य जीता था जबकि मौजूदा खेलों में कल 50 मीटर राइफल प्रोन में रजत पदक जीता .

दूसरी ओर मुद्गल पहली बार इन खेलों में भाग ले रही है और उसका यह पहला पदक है . वह प्रोन में 16वें स्थान पर रही थी .क्वालीफिकेशन में मुद्गल ने राष्ट्रमंडल क्वालीफाइंग रिकार्ड तोड़ते हुए 589 ( नीलिंग में 196, प्रोन में 199 और स्टैंडिंग में 194 ) स्कोर किया था . वहीं तेजस्विनी 582 ( 194, 196, 192 ) तीसरे स्थान पर रही थी .

तेजस्विनी ने इससे पहले 2010 में म्युनिख विश्व चैम्पियनशिप में 50 मीटर राइफल प्रोन में विश्व रिकार्ड की बराबरी की थी .

राष्ट्रमंडल खेल (टेटे) : महिला युगल के फाइनल में मनिका-मौमा

भारत की महिला युगल जोड़ी मनिका बत्रा और मौमा दास ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में नौवें दिन शुक्रवार को महिला युगल वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. इस जीत के साथ ही मनिका और मौमा ने रजत पदक पक्का कर लिया है. हालांकि, एक अन्य सेमीफाइनल मुकाबले में भारत की सुतिर्था मुखर्जी और पुजा सहस्त्रबुद्धे की जोड़ी को हार मिली.

मनिका-मौमा की जोड़ी ने सेमीफाइनल-2 में मलेशिया की यिंग हो और कारेन लिन की जोड़ी को एकतरफा मुकाबले में 3-0 (11-4, 11-6, 11-5) से मात देकर फाइनल में कदम रखा.

फाइनल में उनका सामना सिंगापुर की तियावनेई फेंग और यु मेंग्यु की जोड़ी से होगा. इस जोड़ी ने सेमीफाइनल-1 में पूजा और सुतिर्था की जोड़ी को 3-0 (11-5, 11-7, 11-5) से मात दी.

राष्ट्रमंडल खेल (स्क्वॉश) : महिला युगल के सेमीफाइनल में दीपिका-जोशना

दीपिका पल्लिकल कार्तिक और जोशना चिनप्पा की जोड़ी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में नौवें दिन शुक्रवार को स्क्वॉश की महिला युगल वर्ग स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. दीपिका-जोशना की जोड़ी ने क्वार्टर फाइनल-2 में कनाडा की सामंथा कोर्नेट और निक्की टोड को 2-1 से हराया.

भारतीय जोड़ी दीपिका-जोशना ने सामंथा और निक्की की जोड़ी को 38 मिनट में 7-11, 11-5, 11-9 से मात देकर अंतिम-4 में प्रवेश किया.

सेमीफाइनल में अब दीपिका-जोशना की जोड़ी का सामना इंग्लैंड की लॉरा मसारो और सारा-जेन पैरी से होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

रवीन्द्र जडेजा का झलका दर्द, कहा- वन-डे टीम में शामिल होने के लिए इतने दिनों किया इंतजार

दुबई। अपने वापसी मैच में ही चार विकेट लेकर