Home > Mainslide > मोदी ने साधा विपक्षी पार्टियों पर निशाना, कहा- यूपी को ‘SCAM’ मुक्त बनाना जरूरी

मोदी ने साधा विपक्षी पार्टियों पर निशाना, कहा- यूपी को ‘SCAM’ मुक्त बनाना जरूरी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भ्रष्टाचारियों के खिलाफ लडाई जारी रखने का एलान करते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश के विकास के लिए ‘स्कैम ‘मुक्त करना जरुरी है। राज्य विधानसभा चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए आज यहां मोदी ने विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए जनता को ‘स्कैम’ का मतलब भी समझाया। मोदी ने साधा विपक्षी पार्टियों पर निशाना, कहा- यूपी को ‘SCAM’ मुक्त बनाना जरूरीउन्होंने कहा,‘‘स्कैम यानि SCAM- S का मतलब है समाजवादी, C का मतलब है कांग्रेस, A का मतलब अखिलेश और M का मतलब मायावती है।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य के विकास के लिए स्कैम से मुक्ति पाना जरुरी है। जनता को तय करना पड़ेगा कि उसे स्कैम चाहिए या विकास। नौजवानों को रोजगार के लिए स्कैम को दरकिनार करना ही पड़ेगा। 

अखिलेश सरकार पर किया कटाक्ष

उन्होंने कटाक्ष किया कि पूरे दिन पापा, चाचा, मामा, पिता, भतीजा में फंसा रहने वाला उत्तर प्रदेश का विकास नहीं कर सकता। राज्य को बेहाल कर दिया है। उन्होंने कहा, Þभ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी लडाई जारी रहेगी। जब तक मैं हूं चैन से नहीं बैठूंगा और न ही लुटेरों को बैठने दूंगा। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई रुकने वाली नहीं है। मैं ताकतवर लोगों से लड़ रहा हूंं, मोहल्ले की कुश्ती नहीं। देश को बेइमानों से मुक्ति दिलाने के लिए आर्शीवाद दीजिये। 

उत्तराखंड SSSC में आई वैकेंसी के लिए जल्द करें आवेदन

राज्य में खुशहाली के लिए परिवर्तन लाना जरुरी 

मोदी ने ‘स्कैम’ के खेल को हमेशा के लिए नेस्तनाबूद करने के लिए वोट का सही प्रयोग करने की अपील की और कहा कि राज्य में खुशहाली के लिए परिवर्तन लाना जरुरी है। राज्य में सुख चैन लाने के लिए ‘स्कैम’ से छुटकारा पाना ही होगा। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार का आलम यहां तक पहुंच गया है कि कर्नाटक के एक मंत्री के यहां 150 करोड रुपये बरामद हुए लेकिन शर्म की बात है कि कांग्रेस ने उसे अभी तक मंत्री बनाकर रखा है। कांग्रेस पता नहीं किस मुंह से भ्रष्टाचार खत्म करने की बात करती है। 

एसएससी की परीक्षाओं में अक्सर पूछे जाते है ऐसे प्रश्न

मेरठ की धरती 1857 के स्वतंत्रता संग्राम की गवाह

आजादी के आंदोलन का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरठ की धरती 1857 के स्वतंत्रता संग्राम की गवाह है। अंग्रेजो से देश को मुक्त कराने के लिए क्रांतिकारियों ने यहीं से बिगुल फूंका था, उन्हें खुशी है कि प्रचार का बिगुल फूंकने का यहीं से मौका मिला। उस समय अंग्रेजों से लडाई लडी गयी थी और इस समय भ्रष्ट शासकों और गरीबी से मुक्ति के लिए लडाई लडी जा रही है। उनकी लडाई भ्रष्टाचार, गुंडाराज, बहन-बेटियों की इज्जत लूटने वालों को शरण देने वालों के खिलाफ है। यह लडाई वह अंतिम दम तक जारी रखेंगे।  

ऐसे…. बनाए चाय के साथ गर्मागर्म समोसे

यूपी से पलायन होने को मजबूर हैं नौजवान

उन्होंने कहा कि इस राज्य के पास अकूत प्राकृतिक संपदा और काम करने वाले मजबूत हाथ हैं, फिर भी रोजी-रोटी के चक्कर में नौजवानों को यहां से पलायन करना पड़ रहा है। ढाई साल में केन्द्र सरकार ने गरीबों, किसानो, महिलाओं, शोषित और पीडित के लिए काफी काम किया, लेकिन अभी भी बहुत कुछ करना है। उन्हें यूपी का कर्ज चुकाना है, लेकिन इसके लिए बाधा डालने वाली राज्य सरकार को हटाना ही पडेगा। दिल्ली से चली योजनाएं लखनऊ में लटक जाती हैं। 

विजडन के कवर पेज पर इस बार विराट, सचिन के बाद दूसरे भारतीय

मरीजों में भी जातिवाद देखा जा रहा

प्रधानमंत्री ने कहा कि माताओं-बहनों की बीमारी के लिए केन्द्र ने 2014-15 में चार हजार करोड़ रुपये दिये, लेकिन इस राज्य में ढाई हजार करोड़ रुपये भी खर्च नहीं हो पाये। पिछले वित्तीय वर्ष में सात हजार करोड़ रुपये दिये। साल बीत गया लेकिन ढाई हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च नहीं हो पाया क्योंकि मरीजों में भी जातिवाद देखा जा रहा है। सरकार बनाने में मदद करने वाली जातियां आती तो यह पैसे खर्च हो सकते थे। बीमार को भी वोटबैंक मानकर चलने वाले लोगों से निजात पानी ही होगी। शहरों के विकास के लिए शुरु की गयी ‘अमृत योजना’ के तहत केन्द्र ने उत्तर प्रदेश को 7200 करोड़ रुपये दिये। साल पूरा हो गया और खर्च हुआ केवल चार सौ करोड़ रुपये। उन्होंने कटाक्ष किया कि ऐसा नहीं है कि राज्य सरकार पैसे खर्च नहीं करना चाहती थी लेकिन उन्हें पता है कि दिल्ली में मोदी बैठा है और वह पाई-पाई का हिसाब मांगेगा, इसलिए राज्य सरकार को पसीना छूट रहा था। 

यूपी चुनाव :समाजवादी पार्टी के बाद लोकदल ने मुलायम को बनाया, स्टार प्रचारक

‘स्कैम’ गोटी बिछाकर अपनी सरकार बनाने में लगा

मोदी ने कहा कि ‘स्कैम’ गोटी बिछाकर केवल अपनी सरकार बनाने में लगा हुआ है। उसे उत्तर प्रदेश के विकास से कोई लेना देना नहीं हैं। उनके इरादे नेक नहीं हैं। प्रदेश का विकास चाहते तो खनन माफिया को टिकट नहीं देते। केनद्र सरकार ने प्रदेश में स्वच्छता अभियान के लिए 950 करोड रुपये दिये लेकिन खर्च हुआ केवल 40 करोड रुपये। राज्य सरकार की नीयत में खोट है, इसलिए विकास के अलावा उनका ध्यान अन्य चीजों पर है।

आगरा की सड़कों पर भी नजर आये, UP के शहजादे अखिलेश और राहुल

सपा-कांग्रेस गठबन्धन पर ली चुटकी 

मोदी ने सपा-कांग्रेस गठबन्धन पर चुटकी ली और कहा कि एक दूसरे को हर समय कोसने वालों को बताना चाहिए कि रातोंरात ऐसा क्या हो गया कि गले मिल गये। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने प्रदेश में यात्रा निकालकर सपा सरकार पर कई आरोप लगाये थे। कानून व्यवस्था को चौपट करार दिया था। राज्य सरकार को लुटेरा बताया गया था।  प्रधानमंत्री ने कहा, ‘राजनीतिक गठबन्धन कई बार हुए हैं लेकिन यह पहला ऐसा गठबन्धन है जिसमें एक दूसरे को खत्म करने का मौका नहीं छोडऩे वाले गले मिल गये हैं। इन्हें पहचानना होगा क्योंकि यह जनता की भलाई के लिए नहीं मिले हैं बल्कि कुर्सी हथियाने की कोशिश में एक हुए हैं।’

दोनों शहजादे मिलकर यूपी को लूटना चाहते हैं- अमित शाह

हमारी नियत और नीति दोनों साफ

मोदी ने कहा कि उनकी नीति और नीयत दोनों साफ है। वह 2022 तक हर गरीब को घर देना चाहते हैं। यूपी के भाग्य को बदलने के लिए यहां की सरकार को बदलना ही होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य में भाजपा की सरकार बनी तो लघु और सीमान्त किसानों के कृषि ऋण माफ होंगे। चौदह दिन में हरहाल में गन्ना किसानों का भुगतान होगा। मेरे प्रधानमंत्री बनने के पहले गन्ना किसानों का 22 हजार करोड रुपये बकाया था। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार बनते ही 32 लाख किसानों के खाते में 99 फीसदी पैसा पहुंच गया। आखिर लोग बताते क्यों नहीं कि 22 हजार करोड रुपये बकाया कैसे हो गया। राज्य सरकार का चीनी मिलों से क्या रिश्ता था। छह चीनी मिलों पर आज भी गन्ना किसानों का काफी धन बकाया है लेकिन सरकार की कान पर जूं नहीं रेंग रहा है। ऐसी सरकार को एक मिनट भी नहीं रहने दिया जाना चाहिए। 

यूपी चुनाव: शाह ने मेरठ में स्‍थगित की पदयात्रा, अखिलेश और राहुल पर बरसे

भाजपा शासित राज्यों में किसानों का नहीं कोई बकाया

प्रधानमंत्री ने दावा किया कि जिन प्रदेशों में भाजपा की सरकारें हैं वहां एक पैसा भी किसानों का बकाया नहीं है। भाजपा सरकारें किसानों के उत्पादन का कम से कम साठ फीसदी खरीदती हैं जबकि यहां की सरकार केवल तीन प्रतिशत खरीदती है बाकी बिचौलियों के लिए छोड़ देती है।  उन्होंने कहा कि मेरठ खेल का सामान बनाने का केन्द्र है। यहां के लोगों की थोड़ी सी मदद कर दी जाये तो नौजवान बाहर क्यों जायेगा। जनता को यह सब समझना होगा और वोट देने से पहले दस बार सोचना होगा। उन्होंने कहा कि नोटबन्दी से भ्रष्टाचार पर काबू पाने में सफलता मिली है लेकिन इस दिशा में अभी और भी काम किया जाना है। नोटबन्दी की वे गलत बता रहे हैं जो पैसे लेकर टिकट बेचते थे या 70 साल से लूट लूटकर धन इक_ा किये थे। मोदी ने कहा कि देश की हिफाजत करने वाले फौजियों को वन रैंक वन पेंशन देकर सही मायने में सैनिकों का उनकी सरकार ने ही सम्मान किया। कई लोगों ने तो सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाकर सेना पर ही शक जाहिर कर दिया।

Loading...

Check Also

16 दिसंबर को साढ़े तीन घंटे प्रयागराज में गुजारेंगे पीएम मोदी

प्रयागराज : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रोटोकाल पीएमओ ने जारी कर दिया है। वह 16 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com