प्रचंड गर्मी और लू के चलते बिहार में एक दिन में 44 की मौत

बिहार में दिमागी बुखार के बाद प्रचंड गर्मी का कहर बरपा है। केवल एक दिन में लू से 30 लोगों की मौत हो गई। सबसे ज्यादा 26 लोगों की मौतें औरंगाबाद में हुई, जहां का तापमान 43 डिग्री पहुंच गया था। वहीं आपदा विभाग के अनुसार, गया में हीट स्ट्रोक से 20 लोगों की मौत हुई और नवादा में दो लोगों की मौत हुई है। प्रचंड गर्मी के बीच हीट स्ट्रोक से लोग लगातार बीमार हो रहे हैं और अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लू से मरने वाले के परिजनों को चार-चार लाख मुआवजे की घोषणा की है।

Loading...

इधर, मुजफ्फरपुर में दिमागी बुखार से हो रही बच्चों की मौत के बाद स्थिति का जायजा लेने पहुंचे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी हीट स्ट्रोक से हुई मौतों पर दुख जताया है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि तेज धूप और गर्मी में घर से बाहर न निकलें। उन्होंने कहा कि तेज गर्मी दिमाग पर असर डालती है और हमें अलग-अलग तरह की बीमारियों की ओर धकेलती है। इसलिए जब तापमान कम हो जाए, तभी बाहर जाएं। 
 

View image on Twitter

अचानक तेज बुखार आया और अस्पताल में मौत हो गई

औरंगाबाद में हीट स्ट्रोक से पीड़ितों को पहले तेज बुखार आया और अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें नहीं बचाया जा सका। परिजनों का कहना है कि बुखार आने पर मरीज को अस्पताल लेकर पहुंचे थे, लेकिन डॉक्टरों ने चेकअप के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया। अधिकतर मरीजों के साथ ऐसा ही हुआ। एक-एक कर हुई 26 लोगों की मौत से औरंगाबाद में हड़कंप मच गया।  

औरंगाबाद के सिविल सर्जन डॉ. सुरेन्द्र प्रसाद सिंह ने हीट स्ट्रोक से 26 लोगों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि हीट स्ट्रोक से पीड़ित लोगों का सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है। स्थिति पर नजर रखी जा रही है। वहीं, डीडीसी घनश्याम मीणा ने बताया कि सदर अस्पताल में अतिरिक्त डॉक्टरों की तैनाती की गई है। 

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *