पूजा-पाठ में क्यों किया जाता है लौंग का इस्तेमाल? जानिए लौंग के खास उपाय

हम सभी पूजा पाठ को पूरी आस्था के साथ करते हैं व पूजा-पाठ में तरह तरह की वस्तु का इस्तेमाल करते हैं, इसके साथ ही पूजा में कपूर का भी इस्तेमाल किया जाता है। कपूर को पवित्र माना जाता है व हवन सामग्री में लौंग को भी विशेष महत्व दिया जाता है। पूजा पाठ में कर्पूर के साथ ही लौंग का इस्तेमाल भी किया जाता है।पूजा-पाठ में क्यों किया जाता है लौंग का इस्तेमाल? जानिए लौंग के खास उपाय

लौंग के इस्तेमाल के बगैर धार्मिक काम अधूरा माना जाता है। हम में से कई लोगो ने पूजा-पाठ में लौंग का प्रयोग होते देखा होगा। आज हम इस लेख में लौंग के इस्तेमाल के बारे में बता रहें हैं आखिर क्यों हिंदू धर्म में लौंग को पवित्र और गुणकारी माना गया है।

लौंग का प्रयोग पूजा-पाठ में होने के साथ ही इसका औषधिय महत्व भी रहता है। लौंग के प्रयोग से घर की नकारात्मकता दूर होती है। पूजा पाठ में लौंग का इस्तेमाल करने से घर में आने वाली छोटी छोटी कई सारी परेशानी से बचा जा सकता है।

देसी कपूर के साथ आम की लकड़ी दो या तीन लकडी जला कर इसमें 11 जोड़ी लौंग लें। लौंग टूटी हुई या खराब नहीं होना चाहिए। इस लौंग को घी के साथ आग में जलाएं। इस उपाय कोसूर्योदय से पहले और सूर्यास्त के बाद करना लाभदायक रहेगा। ऐसा करने से इस पूजा से घर के कलह को समाप्त किया जा सकता है व घर में आर्थिक सम्पन्नता आती है।

लौंग के इस्तेमाल से बच्चों को बुरी नजर से भी दूर रखा जा सकता है। ऐसा करने से बच्चों का मन खाने-पीने में भी लगता है और वह स्वस्थ्य रहता है। इसके लिए बच्चों को दुर्गा मां के चरणों में एक जोड़ा लौंग दान करने के लिए कहा गया है। इसके साथ ही लौंग को एक सफेद कपडे़ में बांधकर बच्चे के गले में पहनाने से भी फायदा मिलता है

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copy is not permitted !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com