जन्मदिन मनाने आई युवती की मौत, आंटी को बचाने में गई भतीजों की जान

- in महाराष्ट्र, राज्य
मुंबई के लोअर परेल इलाके में स्थित कमला मिल्स कंपाउंड में लगी आग के कारण दम घुटने से 14 लोगों की मौत हो गई वहीं 12 से अधिक लोग घायल हो गए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स और चश्मदीदों के बताया कि इस हादसे में गई जिंदगियों की वजह वहां मची भगदड़ है। इस हादसे में मरे 14 लोगों में खुशबू मेहता भी हैं जो अपना जन्मदिन मनाने सहेलियों के साथ वहां एक रेस्टोरेंट गईं थी और आग की चपेट में आ गई। खुशबू अपना 29वां जन्मदिन सेलीब्रेट करने गईं थीं।
  
जन्मदिन मनाने आई युवती की मौत, आंटी को बचाने में गई भतीजों की जानकैंपस में आग आधी रात के बाद लगी थी। फायरफाइटर ने घंटों मशक्कत कर बिल्डिंग में मौजूद लोगों को निकाल लिया गया लेकिन आग इतनी भयानक थी कि 14 लोगों को बचाया नहीं जा सका। 14 मरने वाले लोगों में 11 महिलाएं थी। इनमें वों भी हैं जो खुशबू के साथ उसका बर्थ-डे सेलीब्रेट करने आईं थीं। अधिकारियों ने बताया कि रेस्टोरेंट में कई पार्टियां चल रहीं थी। इस आग की मौत दो भाई चढ़ गए, दोनो भाई अमेरिका से मुंबई छुट्टियां मनाने आए थे।

जब बिल्डिंग में आग लगी तो दोनों भाई अपनी आंटी को ढूंढने लगे और आग की चपेट में आ गए। वन एबव रेस्टोरेंट और पब से बचे प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि आग इतनी तेजी से फैली की लोग खुद को बचा नहीं सके।  अग्निशमन अधिकारी ने बताया कि आग लगने के बाद कई लोग बाथरुम में खुद को छुपा लिया था, इन दोनों भाइयों धैर्य ललानी 26 साल के और विश्वा ललानी 23 की बॉडी उनकी आंटी प्रमीला केनिया की डेड बॉडी कई और लोगों की बॉडी के साथ बाथरूम में मिली। 

अधिकतर लोगों की मौत दम घुटने की वजह से हुई

अधिकारियों ने बताया कि इन तीनों के शरीर पर जले का कोई निशान नहीं मिले हैं। आग के कारण मरे अधिकतर लोगों की मौत दम घुटने की वजह से हुई है। धैर्य और विश्वा ललानी के परिवार वालों ने मीडिया को बताया कि दोनों भाई मुंबई दो हफ्ते पहले फैमिली फंक्शन में भाग लेने आए थे। गुरुवार की रात दोनों ने अपनी आंटी के साथ डिनर प्लान किया था और उन्होंने कई और दोस्तों को भी बुलाया था।

फैमिली फ्रेंड निरवी शाह ने बताया कि डिनर पब के प्रवेश द्वार पर ही हमारी टेबल बुक थी। जब आग लगी तब हमलोग जल्दी से बाहर की तरफ भागे और मेन गेट पर पहुंच गए लेकिन जब हम नीचे पहुंच गए तो हमने देखा की प्रमीला आंटी हमारे साथ नहीं है और वो दोनों उन्हें ढूंढने वापस गए और फिर डेड बॉडी ही बाहर आई। 

 
 
Patanjali Advertisement Campaign

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अनशन से पहले हिरासत में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, क्या फिर भड़केगा आंदोलन

अहमदाबाद : पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल को गुजरात