गृह मंत्रालय के कारण नहीं खुल पाएगी दुनिया के सबसे बड़े इस बैंक की भारत में दूसरी शाखा

- in कारोबार
दुनिया के सबसे बड़े बैंक की भारत में दूसरी शाखा खुलने पर गृह मंत्रालय ने रोक लगा दी है। इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना (आईसीबीसी) की पहले से एक शाखा मुंबई में खुली हुई है और उसने दिल्ली में अपनी दूसरी शाखा खोलने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक के पास आवेदन कर रखा है। गृह मंत्रालय के कारण नहीं खुल पाएगी दुनिया के सबसे बड़े इस बैंक की भारत में दूसरी शाखा

मुंबई शाखा में हैं ज्यादा चीनी कर्मचारी
गृह मंत्रालय के मुताबिक आईसीबीसी की मुंबई शाखा में पहले से ही ज्यादा चीनी कर्मचारी तैनात हैं। ऐसे में इसे दिल्ली में शाखा खोलने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। गृह मंत्रालय ने मुंबई शाखा में केवल 3-4 चीनी कर्मचारियों को रखने की अनुमति दी है, जबकि यहां पर फिलहाल 12 चीनी कर्मचारी काम कर रहे हैं। 

नहीं करा रहे हैं FRRO में रजिस्ट्रेशन
180 दिन या फिर 6 महीने से अधिक समय तक भारत में रहने वाले विदेशी नागरिकों को क्षेत्रीय पंजीकरण कार्यालय (FRRO) में रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता है। गृह मंत्रालय के मुताबिक केवल चार कर्मियों ने रजिस्ट्रेशन करा रखा है। जबकि बाकी कर्मचारी 6 महीने से पहले देश छोड़कर चले जाते हैं। 

आरबीआई ने जनवरी 2018 में इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना को देश में अपनी शाखाएं को खोलने की मंजूरी दी थी। देश भर में कुल 45 विदेशी बैंकों को आरबीआई अभी तक लाइसेंस दिया है, जिसके बाद वो यहां पर बिजनेस कर रहे हैं। 

42 देशों में मौजूद हैं शाखाएं

इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना (आईसीबीसी) की स्थापना 1 जनवरी 1984 को बीजिंग में हुई थी। आईसीबीसी 28 अक्टूबर 2005 को ज्वाइंट स्टॉक लिमिटेड कंपनी में रिस्ट्रकचर हुई और ठीक इसके एक साल बाद शंघाई स्टॉक एक्सचेंज और हांगकांग स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड हुआ।
आज यह विश्व का सबसे बड़ा लिस्टेड बैंक भी है। बैंक की शाखाएं चीन के अलावा दुनिया के 42 देशों में मौजूद है जिसमें से भारत में इकलौती शाखा मुंबई में है। 5320 कारपोरेट और 49.6 करोड़ पर्सनल कस्टमर्स बैंक के पास है। 31 मार्च 2016 को समाप्त हुए वित्त वर्ष में बैंक का टोटल असेट वैल्यू 3,545 बिलियन यूएस डॉलर (237.51 लाख करोड़ रुपये) था।

सबसे ज्यादा हैं इस विदेशी बैंक की शाखाएं
ब्रिटेन के स्टैण्डर्ड चार्टेड बैंक की सबसे ज्यादा 100 शाखाएं इस वक्त देश में मौजूद हैं। इसके अलावा ईरान के तीन बैंकों ने भी आरबीआई के पास अपनी शाखाएं भारत में खोलने के लिए आवेदन किया है। ईरान के अलावा कोरिया, मलेशिया और नीदरलैंड के एक बैंक ने भी लाइसेंस के लिए आवेदन किया है, लेकिन अभी इनको मंजूरी नहीं मिली है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

IRCTC पर टिकट बुक कराना होगा और भी महंगा, जानिए क्यों 

रेल का सफर और महंगा होने जा रहा